• जानें स्वाद और सेहत के 11 राज़

    खाने मे स्वाद (Taste) का रोल बड़ा अहम होता है। कुछ लोग तो यह भी कहते हैं कि ‘हम तो जी स्वाद के लिए खाते हैं, स्वास्थ्य अपने आप बन जाएगा’। लेकिन यह बात सही मायने मे हर जगह फिट बैठे यह जरूरी नहीं। कुछ स्वाद आपकी सेहत बना सकते हैं तो कुछ बिगड़ भी सकते हैं। हार्ट केयर फाउंडेशन...
  • ऐसे बनी रहेगी हाथों की खूबसूरती

    चेहरे के बाद हाथ ही शरीर का सबसे ज्यादा दिखने वाला हिस्सा हैं। हर छोटे-बड़े काम में इनके इस्तेमाल और हर तरह के मौसम का सीधे सामना करने की वजह से इन पर भी उम्र का असर जल्दी दिखने लगता है। हालांकि अब तक इस पर अधिकतर महिलाएं ध्यान नहीं देती थीं, लेकिन बदतले दौर में इनकी सेहत भी महिलाओं...
  • जाने मेडिकल टेस्ट कराने का सही आधार

    अगर आप रोजाना तीन से 4 किलोमीटर तेज कदमों से चल सकते हैं, और ऐसा करते हुए आपकी सांस नहीं उखड़ती है। अथवा सीने में दर्द नहीं होता है तो यह मान सकते हैं कि आपका दिल पूरी तरह स्वस्थ्य है। लेकिन यह फॉर्म्यूला उन लोगों पर लागू नहीं किया जा सकता है जिन्हें डायबीटीज जैसी समस्या है, क्योंकि उन्हें...
  • ये हैं आपके किचन के टॉप 10 हेल्थ स्टार्स

    समय के साथ कई बीमारियों का असर बढ़ा है तो वहीं वैज्ञानिकों की मेहनत से कई असाध्य बीमारियों का आसान इलाज और छोटी-छोटी बीमारियों को तुरंत दूर भगाने वाली दवाएं भी उपलब्ध हो गई हैं। मगर बार-बार होने वाली सामान्य समस्याओं के लिए भी दवाओं का इस्तेमाल एक लिमिट के बाद कई तरह के साइड इफेक्ट छोड़ जाता है। लेकिन...
  • 80 का ये फॉर्मुला दिलाएगा 80 साल का जीवन

     लंबी और सेहतमंद जिंदगी कौन नहीं चाहता है। इसे पाना कोई मुश्किल काम भी नहीं है,लेकिन आपको इतना तो याद रखना ही पड़ेगा कि इस दुनिया  मे कोई भी अच्छी चीज बिना मेहनत के नहीं मिलती है। वैसे ही अच्छी सेहत के लिए कि  अच्छी जीवनशैली अपनाने, हेल्थ पैरामीटर को आइडियल स्तर पर रखने की जरूरत होती है, और इस...
  • ओसीडी को खुद दे सकते हैं मात

    अन्य बीमारियों की तरह मानसिक बीमारियाँ भी एक सच है। ओसीडी भी इनमे से एक है, लेकिन जागरूकता की कमी के चलते ज़्यादातर लोग इसका इलाज करना तो दूर इसे बीमारी मानने को भी तैयार नहीं होते और समझाने वाले को गलत साबित करने मे लग जाते हैं। ऐसे मे देखते-देखते समस्या इस कदर गंभीर हो जाती है कि मरीज...
  • पर्सनल हाइजीन के टॉप 12 टिप्स

    अगर रूटीन लाइफ मे साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखा जाए तो फ्लू, डायरिया, कॉलरा, जोंडिस टायफॉइड जैसी 80% बीमारियों से बचा जा सकता है। इसके लिए हम आपको बता रहे हैं सैनिटेशन (sanitation) के टॉप-12 रूल्स। जिन्हें अपनाकर आप खुद को हेल्दी रख सकते हैं: 1. खाने से पहले जरूर धोएँ हाथ न सिर्फ खाने के बाद बल्कि खाने से...
  • ऐसे रखें अपनी स्किन को हमेशा यंग

    आपका चेहरा आपकी पूरी पर्सनेलिटी का आईना होता है। ऐसे मे अपनी पर्सनेलिटी को हमेशा प्रभावशाली बनाए रखने के लिए आपको अपने चेहरे को हमेशा ग्लोइंग और यंग बनाए रखना जरूरी है। हम दे रहे हैं कुछ टिप्स, जिन्हें अपनाकर आपको अपने इस टारगेट तक पहुँचने मे आसानी होगी: जल्दी करें शुरुआत अगर अब तक आपने अपनी स्किन के लिए...
  • 10 हेडेक ट्रिगर, जो कर देंगे आपको सरप्राइज़

    अगर आप सोचते हैं कि सिर्फ स्ट्रेस या काम का बोझ ही आपको हेडेक दे सकता है तो आप गलत हैं। इसके कई और कारण भी हैं। हम यहाँ आपको बता रहे हैं ऐसे 10 हेडेक ट्रिगर जो आपको सरप्राइज़ कर देंगे: 1. आपका बॉस जी हाँ, आपका बॉस सच मे आपको सिरदर्द दे सकता है। जो भी बात आपके...
  • प्युबर्टी की उम्र करती है खास डिमांड

    प्युबर्टी की उम्र हार्मोनल बदलावों की और सबसे ज्यादा शारीरिक बदलावों की होती है। किशोरावस्था में बच्चे की एडल्ट हाइट का 20 पर्सेंट और वजन का 50 पर्सेंट विकास हो जाता है। क्योंकि ये बदलाव बेहद तेजी से हो रहे होते हैं, ऐसे में बच्चे की न्यूट्रीशनल जरूरतें भी बढ़ जाती हैं, खासतौर से प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, फोलेट और जिंक...
  • दिल को जवां रखने के लिए जरूरी है फ़ाइबर

    समझें होल ग्रेन और इसके फाइबर का महत्व रोजाना होल ग्रेन यानि साबुत अनाज खाने से फाइबर मिलता है जो कि आपके दिल की सेहत के लिए अच्छा होता है। कोई भी फूड गेहूं, चावल, जौ, मकई या अन्य किसी अनाज से बनता है। ब्रेड, पास्ता, ओटमील और ग्रिट्स यानि बजरी, ये सभी ग्रेन के उत्पाद हैं। मुख्य रूप से...
  • ऐसे बनें सुपर रीचार्ज्ड मॉम

    बच्चा आ जाने के बाद आपका पूरा रूटीन बदल जाता है। सुबह उठने से लेकर बाहर जाकर दोस्तों के साथ मौज-मस्ती तक, हर काम का स्केड्यूल बच्चे के हिसाब से प्लान होता है। इस सबके साथ आपकी लाइफ स्टाइल पहले से पूरी तरह अलग हो जाती है। लेकिन ऐसा करके एक समय के बाद आप अपने आप को पुरानी लाइफस्टाइल,...
  • आयुर्वेद से मैनेज करें हेपटाइटिस

    हेपेटाइटिस मे लिवर मे इन्फ़्लेमेशन हो जाता है। सबसे गंभीर बात यह है कि इसके ज़्यादातर मामलों मे शुरुआती डीनो मे लक्षण दिखाई नहीं देते हैं। आयुर्वेदाचार्य और जीवा आयुर्वेदा के डायरेक्टर डॉ. प्रताप चौहान कहते हैं कि यह जौंडिस (पीलिया), भूख न लगना या घबराहट महसूस होने की वजह के रूप मे सामने आ सकता है। अगर हेपटाइटिस का...
  • डायबीटीज़ मे इन बातों पर जरूर करें गौर

    आज के टाइम मे डायबीटीज़ देश के लिए एक बड़ी समस्या बन चुकी है। गलत लाइफस्टाइल और महंगी दवाएं जहां इससे जुड़ी गंभीर बीमारियों को बढ़ावा दे रही हैं वहीं जागरूकता की कमी अंजाने मे ही उस तबके को भी मुश्किल मे डाल रहा है जो इसके मैनेजमेंट पर पैसा खर्च कर सकते हैं या कर रहे हैं। ऐसे मे...
  • लाइफस्टाइल मैनेजमेंट से भगाएँ सिरदर्द

    सिरदर्द वह दर्द है या डिसकंफर्ट है जो सिर, स्कल्प या गर्दन में होता है। गंभीर कारणों से सिरदर्द होना काफी रेयर होता है। आमतौर पर सिरदर्द को लाइफ स्टाइल में बदलाव, रिलैक्सेशन के तरीके सीखकर और जरूरत पड़ने पर डॉक्टर की सलाह से दवा लेकर दूर किया जा सकता है। मगर अपनी मर्जी से बार-बार पेनकिलर लेना भी सिरदर्द...

मेडिटेक