अनंत अंबानी का स्लिमिंग “मैराथन” रहस्य

Share:

रिलाanant-ambani-weightयंस इंडस्ट्रीज के मालिक उद्योगपति मुकेश अंबानी के 22 वर्षीय बेटे अनंत अंबानी ने अगर 8-10 महीने में जाम नगर की अपनी रिफायनरी का चक्कर लगा कर अपना वजन 140 किलोग्राम से घटा कर 70 किलोग्राम कर लिया तो समझिए उसने दुनिया का सबसे बड़ा मैराथन रेस जीता है।
फोर्टिस अस्पताल समूह में इससे भी तेज गति से वजन घटाने की बैरियैट्रिक सर्जरी विभाग के चेयरमैन डा. अतुल पीटर्स ने कहा कि अनंत ने बिना सर्जरी कराए यह कारनामा कर लिया, इसे असंभव कहने की जगह मैं यह कहना चाहूंगा कि ऐसा दावा करना कुछ ऐसा कहना है कि वह भारत से अमेरिका पैदल ही चला गया यानी करीब 15 हजार किलोमीटर का मैराथन जीत लिया। वहीं सर गंगाराम अस्पताल में जाने माने बैरियैट्रिक सर्जन ड़ॉ. प्रवीण भाटिया कहते हैं- यह असंभव लगता है कि बिना सर्जरी के उसने महज 7-8 महीने में इतना वजन कम कर लिया। लेकिन अगर कर लिया तो- ‘नत मस्तक’।
अनंत मोटापा कम करने के प्राकृतिक तरीके मसलन, टहलने, व्यायाम करने एवं नियंत्रित खान पान के जरिए घट कर आधे हो गए हैं, यह दावा किसी के गले नहीं उतर रहा क्योंकि ऐसी कोई मिसाल अब तक दुनिया में कहीं देखी नहीं गई। अनंत अंबानी तब और अनंत अंबानी अब – जैसे चित्रों के विज्ञापन के जरिए प्राकृतिक तरीके से मोटापा कम करने का दावा करने वाली वंदना लूथरा की कंपनी वीएलसीसी ने भी ऐसा हैरतअंगेज दावा कभी नहीं किया।
बैरियैट्रिक सर्जनों से पूछें तो सभी इसे असंभव मानते हैं। उनका मानना है कि अनंत ने बैरियैट्रिक सर्जरी तो कराई ही कराई है। वे यह पता लगाने में लगे हुए हैं कि आखिर उसने यह सर्जरी कराई कहां। डॉ. भाटिया ने कहा कि मेरा यह कहना तो ठीक नहीं होगा कि उसने बैरियैट्रिक सर्जरी कराई ही लेकिन इतना पता कर चुका हूं कि भारत में तो उसकी यह सर्जरी नहीं हुई। डॉ. भाटिया ने कहा कि इतने समय में बैरियैट्रिक से तो उनके खुद के मरीजों में से कइयोंका 100 किलोग्राम वजन तक घटा है लेकिन किसी दूसरे तरीके से ऐसा हुआ हो यह मैंने तो अब तक नहीं सुनी।
बहरहाल, थुलथुल मोटे से छरहरे हुए अनंत अंबानी अभी दुनिया के सबसे बड़े स्लिमिंग आयकॉन बन कर उभरे हैं। उनकी मां नीता अंबानी ने ट्वीटर पर अपने पुत्र के इस बेमिसाल करानामे पर कहा- मुझे उस पर गर्व है। वैसे मां भी तो कुछ कम नहीं। कुछ साल पहले वह अपना वजन 90 किलोग्राम से 60 कर चुकी हैं। दावा है कि एक अमेरिकी ट्रेनर की देखरेख में अनंत ने अपनी रिफायनरी का चक्कर लगा लगा कर अपना इतना चर्बी बहा लिया। बिना पेट को बांधे भोजनभट्ट रहे अदनान सामी के दूसरे संस्करण अनंत ने अपनी भूख और मोटापे पर कैसे विजय पाई यह किसी ब्लॉकबस्टर फिल्म की कहानी से कम नहीं लगती।

Share:

Leave a reply