ऐसे बनी रहेगी हाथों की खूबसूरती

Share:

Remarkable_Hand_Feet

चेहरे के बाद हाथ ही शरीर का सबसे ज्यादा दिखने वाला हिस्सा हैं। हर छोटे-बड़े काम में इनके इस्तेमाल और हर तरह के मौसम का सीधे सामना करने की वजह से इन पर भी उम्र का असर जल्दी दिखने लगता है। हालांकि अब तक इस पर अधिकतर महिलाएं ध्यान नहीं देती थीं, लेकिन बदतले दौर में इनकी सेहत भी महिलाओं के लिए बड़ी टेंशन बन गई है। शायद यही वजह है कि हजारों की संख्या में महिलाएं हाथों के कॉस्मेटिक प्रॉसीजर के लिए एस्थेटिक सर्जन के पास पहुंच रही हैं।

डर्मल फिलर का इस्तेमाल है आम
नोवा स्पेशियलिटी सर्जरी के कॉस्मेटिक सर्जन डॉ. अजय कश्यप कहते हैं, आपकी हथेली के पिछले हिस्से की स्किन चेहरे की स्किन से भी पतली होती है, यहां बेहद कम मात्रा में फैट होता है और ऑयल ग्लैंड भी बहुत कम होते हैं। इसके साथ ही यह हिस्सा धूप के संपर्क में सबसे ज्यादा आता है। यही वजह है कि इन पर उम्र बढ़ने का असर सबसे पहले दिखता है। ब्लश क्लीनिक मुंबई के डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. जमुना पाई कहते हैं कि, आजकल हाथों में डर्मल फिलर लगवाने का चलन आम हो गया है। इससे त्वचा पर पड़ी झुर्रियां हटती हैं। कुछ लोग पैरों की स्किन पर भी इनका इस्तेमाल करवाते हैं। इसका असर तुरंत दिखता है। 40 से 50 साल की उम्र वाली महिलाओं में यह प्रॉसीजर कराने का चलन आम हो गया है।

तेजी से बढ़ रहा है बाजार
मार्केट पब्लिशर्श के ग्लोबल डेटा के मुताबिक, यह लोगों के हमेशा जवां दिखने की बढ़ती चाह का ही नतीजा है कि एस्थेटिक्स का मार्केट दिनों दिन बढ़ रहा है। वर्ष 2018 तक इसें 4.7 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की संभावना है। खास बात यह है कि भारत और चाइना इनके सबसे बड़े मार्केट के रूप में उभर रहे हैं। हालांकि महंगा प्रॉसीजर होने की वजह से ये चीजें अब भी जोगों की पहुंच से बाहर हैं।

शुरू से करें केयर
डॉ. कश्यप कहते हैं कि उम्र का हाथ पैर की त्वचा पर जल्दी असर न दिखे इसके लिए शुरू से ही इन पर ऐसा मॉइश्चइजर इस्तेमाल करें जिसमे यूरिया और लैक्टिक एसिड हो। घर से बाहर निकलते समय हाथों, पैरों की त्वचा पर ज्यादा एसपीएफ वाले सनस्क्रीन लगाना न भूलें। रेग्युलर मंथली मैनिक्योर, पैडिक्योर के साथ पैराफिन वैक्स टृीटमेंट ले सकती हैं,जो कि आपकी त्वचा की रंगत को एक समान रखने और इसे नर्म बनाए रखने में कारगर होगा।

घरेलू नुस्खे भी आ सकते हैं काम

नेचुरल टोनर
झुर्रियां हटाने का सबसे बेहतरीन उपाय है स्किन टोनर का इस्तेमाल। इससे आपके स्किन का पीएच वैल्यू, जो त्वचा को बैक्टीरियल संक्रमण से बचाने में मददगार होता है। यह 4.5 ये 7 के बीच रहता है। आमतौर पर छोटे बच्चों के स्किन की पीएच वैल्यू 7 होती है और जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है त्वचा में इसका स्तर कम हो जाता है। नेचुरल टोनर के इस्तेमाल से इसकी कमी पूरी हो जाती है। यह त्वचा को टाइट रखने और उसको पर्याप्त नमी देने में भी सहायक, जिससे त्वचा की लचक और चमक बनी रहती है। घर में उपलब्ध सबसे आम स्किन टोनर में गुलाब जल, रेसेदार फलों का जूस, अनान्नास का जूस, नींबू के रस के साथ शहद अथवा अंडे का सफेद हिस्सा अपने हाथों की स्किन पर हफ्ते में एक बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

नेचुरल स्क्रब
स्किन को साफ और सॉफ्ट रखने के लिए स्क्रब करना जरूरी होता है। स्किन के सही ढंग से सांस लेने के लिए पुरानी हो चुकी स्किन सेल्स को हटाना जरूरी होता है। इसके लिए आप बादाम, अखरोट, बेसन अथवा चीनी को दही में मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन स्क्रब करने के बाद हाथों पर मॉइश्चराइजर लगाना बिल्कुल न भूलें। स्क्रब करने से स्किन मेें मॉइश्चर सोखने की क्षमता बढ़ जाती है और आपको मॉइश्चराइजर लगाने का पूरा फायदा मिलता है।

ऑलिव ऑयल का मसाज
ऑलिव ऑयल झुर्रियां हटाने का बेस्ट घरेलू नुस्खा है, फिर त्वचा चाहे हाथ की हो, पैर की, चेहरे की या फिर शरीर के किसी भी हिस्से की। ऑलिव ऑयल में ऐसे तत्व होते हैं जो आपकी त्वचा को उम्र संबंधी नुकसान से बचा सकते हैं। हर रात सोने से पहले अपनी त्वचा पर कुछ बूंदें ऑलिव ऑयल लगाकर मसाज करें। इससे आपकी त्वचा का ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ेगा और ऐसे में मसल्स को नयापन मिलेगा। सुबह उठकर आप अपनी त्वचा में काफी फर्क देखेंगी।

प्याज और विनेगर
जी हां, ये चीजें न सिर्फ आपके सलाद में अच्छी लगती हैं बल्कि धूप की तेज किरणों और बढ़ती उम्र के चलते त्वचा पर आए गहरे धब्बे हटाने में भी कारगर हैं। प्याज एंटी माइक्रोबियल भी होता है जो कि आपके त्वचा के पोर्स में किसी भी तरह के बैक्टीरिया के प्रवेश करने से रोकता है जो कि अंदर जाकर फोड़े फुंसियों के पनपने का कारण बनते हैं जिससे त्वचा पर निशान बन जाता है। प्याज का एक स्लाइस लें और एक ढक्कन एप्पल साइडर विनेगर रखें, त्वचा को किसी अच्छे क्लींजर से साफ करें फिर प्याज के स्लाइस पर विनेगर लगाएं और हल्के हाथों से झुर्रियों पर घुमाएं। इसे लगाकर 45 मिनट के लिए छोड़ दें फिर ताजे पानी से धो लें। इसका इस्तेमाल नियमित रूप से करें। जल्द ही इसका असर दिखने लगेगा।

एलो वेरा
एलो वेरा बेहद असरदार एंटीऑक्सिडेंट और एक बेहतरीन मॉइश्चराइजर है। लेकिन यह याद रखें कि त्वचा के काले धब्बे और मोटी परत को हटाने की प्रक्रिया के दौरान यह त्वचा को थोड़ा रूखा बना सकता है। इससे घबराएं नहीं। एलो वेरा को त्वचा पर लगाकर छोड़ दें। अगर आप कहीं बाहर जा रही हैं तो इसे धोने की भी जरूरत नहीं है।

स्किन का बचाव भी है जरूरी
स्वस्थ त्वचा के जितना जरूरी है इन घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल, उतना ही जरूरी है त्वचा को नुकसान से बचाना भी। ऐसे में कपड़े धोते समय, बर्तन साफ करते समय या किसी भी तरह का स्ट्रॉंग क्लींजिंग एजेंट इस्तेमाल करते समय में हाथों में प्लास्टिक ग्लब्ज पहनें। इससे केमिकल सीधे हाथों पर नहीं लगेगा। जब भी बाहर जाएं, हाथों की त्वचा पर भी सनस्क्रीन लगाएं। ठंड के दिनों में हाथों को रूखा होने से बचाने के लिए बार-बार मॉइश्चराइजर लगाएं। त्वचा में नमी बनाए रखने के लिए खूब सारा पानी पिएं।

खान- पान पर दें ध्यान
आपके खानपान संबंधी आदतों का असर आपकी त्वचा पर भी दिखता है। त्वचा को लंबे समय तक जवां रखने के लिए संतुलित आहार बेहद जरूरी है। इसके साथ ही नियमित एक्सरसाइज भी करें, इससे आपकी मसल्स की टोनिंग होती रहेगी और त्वचा पर जल्दी झुर्रियां नहीं आएंगी।

Share:
0
Reader Rating: (1 Rate)2.7

Leave a reply