मोटापे से बच्चों को दिल की बीमारीयां

Share:

obesity may lead to heart probs in kidsमोटापा हर उम्र के लोगों के लिए खतरनाक हो सकता है। यह एक तरह से कई तरह की बीमारी का घर है। जिस पर हमें ध्यान देने की जरूरत होती है। समय पर ध्यान न देने पर बच्चों के लिए भी यह जानलेवा साबित हो सकता है। मोटापे से हार्ट अटैक होने का खतरा रहता है जो एक ही झटके में किसी की भी जान ले सकता है। एक शोध के मुताबिक बच्चों में मोटापा तेजी से बढ़ रहा है, जो के लिए चिंताजनक है।

अध्ययन से हुआ खुलासा
युनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज और यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्टर्न फिनलैण्ड के साझा शोध से पता चला है कि मोटापे के शिकार 6 साल तक के बच्चों में ह्रदयघात का खतरा हो सकता है। ये बच्चे बिल्कुल भी व्यायाम या शारीरिक काम न के बराबर करते हैं। या फिर जो आलसी होते हैं उनकी रक्त धमनियों का लचीलापन खत्म हो जाता है। ऐसे बच्चों में हार्ट सम्बंधी बीमारीयां होने का खतरा बना रहता है।

ऐसे हुआ अध्ययन
शोधकर्त्ताओं ने इस नतीजे पर पहुंचने के लिए छह से आठ साल तक के 136 बच्चों पर शारीरिक गतिविधि और रक्त धमनियों पर शोध किया। पता चला कि 68 मिनट से कम समय तक हल्के से भारी व्यायाम करने वाले बच्चों की धमनियां सख्त होने लगती हैं। जिससे हार्ट अटैक की सम्भावनाएं बढ़ती हैं।

प्रमुख शोधकर्ता और युनिवर्सिटी ऑफ ईस्टर्न फिनलैण्ड में कार्यरत डॉक्टर ईरो हापला ने बताया बचपन में धमनियों के सामान्य काम करने के लिए हल्का व्यायाम जरूरी है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक 2014 में पांच वर्ष से कम उम्र के चार करोड़ बच्चे अधिक मोटापे का शिकार थे। वर्ष 2014 में आई डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार 48 फीसदी बच्चे एशिया में और 25 फीसदी बच्चे अफ्रीका में मोटापे के शिकार थे।

Share:

Leave a reply