यात्रियों के लिए पोलियो वैक्सीनेशन

Share:

जिन देशों में पोलियो में पोलियो वायरस का असर ख़त्म हो चूका है वहां भी इसके संक्रमण के लौटने के खतरे से इंकार नहीं किया जा सकता है। यह बात भारत पर भी लागू होती है। इस बात की आशंका पोलियो उन्मूलन कार्यक्रम से पिछले 20 सालों से जुड़े बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. राजीव टंडन और आईएमए के सीनियर वाइस प्रेज़ीडेन्ट डॉ. के.के. अग्रवाल पहले ही इस बात की आशंका जता चुके हैं। उनका कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय आगमन के साथ वायरस के दोबारा देश मे प्रवेश से इनकार नहीं किया जा सकता। ऐसे मे सभी देशों को मिलकर दुनिया भर से पोलियो मिटाने की मुहिम चालानी चाहिए।
इस बात को मद्देनजर रखते हुए 14 जून 2014 को विश्व स्वास्थय संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने एक दिशानिर्देश जारी किया है। पोलियो संक्रमण से प्रभावित सभी देखों को यह निर्देश दिया गया है कि वे अंतर्राष्ट्रीय यात्रा के समय पोलियो की वैक्सीन जरूर लगवाएँ और इसका सबूत भी अपने साथ रखें।
पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए विजिट करें: http://www.who.int/ith/updates/20140612/en/।

Share:

Leave a reply