स्टेंट का रेट हुआ 85% तक कम

324
0
Share:

stent prices slashed by central governmentदिल के मरीजों को केंद्र सरकार ने एक बड़ा तोहफा दिया है। दिल के ऑपरेशन में प्रयोग होने वाले स्टेंट की कीमत में 85 फीसदी तक की कटौती की गई है। जिसके चलते अब हर्दय रोगियों को भारी कीमत नहीं चुकानी पड़ेगी। देश में अभी एक स्टेंट की कीमत 25 हजार से लेकर दो लाख रुपए तक है, जो कि एक बड़ा खर्च है।

क्या होता है स्टेंट

स्टेंट एक नली की तरह होता है। जो कि कोलस्ट्रॉल बढ़ने या अन्य किसी कारणों से अवरूध्द हो चुकी रक्त धमनीयों में खून के प्रवाह को सुचारू रूप से बनाए रखनें मे मदद करता है। इन धमनीयों के जरिए ही खून दिल तक पहुंचता है। स्टेंट मेटल और ड्रग इल्यूट दो तरह के होते हैं।

7260 रुपए होगी मेटल स्टेंट की कीमत 

अभी स्टेंट की कीमत 25 हजार से दो लाख रुपए तक की है। लेकिन नेशनल फार्मास्यूटिकल प्राइसिंग अथॉरिटी (एनपीपीए) ने इसके लिए नॉटिफिकेशन जारी किया है। जिसके तहत इसकी कीमतों को नियंत्रित किया जाएगा। अब इसकी कीमत 7260 रुपए होगी। नॉटिफिकेशन जारी कर एनपीपीए ने कहा, यह केंद्र सरकार का फैसला है जो जनता के हित के लिए है। बता दें एनपीपीए संस्था केंद्र सरकार के लिए काम करती है।

654 फीसदी तक मुनाफा कमाते हैं अस्पताल

दिल की बाईपास सर्जरी कराने वाले मरीजों के परिजनों से अस्पताल काफी पैसा वसूलते हैं। एनपीपीए ने कहा, सप्लाई चेन में अलग-अलग स्टेज पर स्टेंट की कीमत को अनैतिक तरीके से बढ़ाया जा रहा है। इससे अस्पताल लगभग 654 फीसदी तक मुनाफा कमाते हैं। इससे मरीजों को काफी आर्थिक नुकसान होता है।

 कीमतों को निंयत्रित किया

सरकार ने दोनों प्रकार के स्टेंटों की कीमतों को फिक्स कर दिया है। इससे अस्पताल मनमानी फीस नहीं वसूल सकेंगे। साथ ही मरीजों को भी आर्थिक राहत मिलेगी। अगर अस्पताल इससे ज्यादा कीमत लेते हैं तो सरकार इन पर जुर्माना लगा सकती है। 

Share:

Leave a reply