गर्मियों मे ऐसे करें बालों की देखभाल

Share:

summer-hair-care-tips
गर्मियों (summer) के तीखेपन का जितना असर त्वचा (Skin) पर पड़ता है उतना ही बालों(hair) पर भी होता है। गर्मी, तीखी धूप, जरूरत से ज्यादा पसीना, धूल-मिट्टी और इस सबके साथ त्वचा और सिर में संक्रमण (infection) की समस्याएं काफी बढ़ जाती हैं जिनके चलते बालों की सेहत प्रभावित होती ही है। ऐसे मे हम दे रहे हैं बालों के देखभाल (hair care) संबंधी कुछ खास टिप्स (tips) जिन्हें अपनाकर आप गर्मियों (summer) मे भी आपने बालों (hair) की खूबसूरती बरकरार रख सकते हैं:

बार-बार धोएं
गर्मियों में सबसे ज्यादा जरूरी होता है बालों की ज्यादा सफाई। उमस, गर्मी, धूल और पसीना ज्यादा होने की वजह से बालों और सिर को साफ रखने के लिए नियमित सफाई करनी चाहिए। अपनी बालों की स्थिति के हिसाब से हर दूसरे दिन बालों को शैंपू से धोने की सलाह दी जाती है। खासतौर से अगर आप बाहर ज्यादा वक्त गुजारते हैं, ट्रैवल ज्यादा करते हैं अथवा धूप मे रहते हैं तो आपके लिए साफ-सफाई पर ध्यान देना ज्यादा जरूरी हो जाता है। हालांकि शैंपू का बहुत ज्यादा इस्तेमाल भी ठीक नहीं होता। इससे सिर की प्राकृतिक नमी खो जाती है। ऐसे में शैंपू का चुनाव भी सावधानी पूर्वक करें। बेहतर है कि ऐसे शैंपू का चुनाव करें जो आपके सिर और बालों की सफाई के साथ-साथ इसे मॉइश्चराइज भी करे।

बालों में तेल लगाएं
बालों में नियमित रूप से गुनगुने तेल का मसाज भी करें। लेकिन बहुत ज्यादा तेल भी न लगाएं क्योंकि फिर इसे साफ करने के लिए ज्यादा शैंपू लगाना पड़ेगा। तेल व शैंपू का बहुत ज्यादा इस्तेमाल भी बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। तेल नियमित रूप से लगाएं लेकिन कम मात्रा में लगाएं। अपनी उंगलियों के सिरों को तेल में डुबोएं और फिर हल्के हाथ से सिर में मालिश करें इससे सिर की तेल ग्रंथियां सक्रिय होंगी और रक्त संचार बढ़ेगा। आपको रात भर तेल लगाकर रखने की जरूरत नहीं है। एक-दो घंटे तक इसे बालों में लगाकर रखना काफी होता है।

धूप से बचाव
यहां तक कि कुछ मिनटों तक धूप का सीधा संपर्क भी बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। जो लोग बाहर ज्यादा समय गुजारते हैं उन्हें समस्या होने का खतरा कहीं अधिक रहता है। त्वचा की तरह ही बालों के लिए भी यूवी किरणें खतरनाक साबित होती हैं। त्वचा को सुरक्षित रखने के लिए तो हम सनस्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं लेकिन बाल अक्सर असुरक्षित रह जाते है। ऐसे में जब भी बाहर निकलें अपने बालों को ढक लें। इसके लिए आप हैट अथवा स्कार्फ लगा सकते हैं। इसके साथ ही ऐसे कंडीशनर का इस्तेमाल करें जिसमें सनस्क्रीन भी हो। ये आपके बालों को एक सुरक्षात्मक कवर प्रदान करेंगे।

जो लोग बालों में कलर लगाते हैं वे महसूस कर सकते हैं कि इन दिनों उनके बालों का रंग फेड हो जाता है। यह भी यूवी किरणों का ही असर होता है। यूवी प्रोटेक्शन वाले हेयर केयर प्रॉडक्ट आपके बालों को एक सुरक्षा घेरा प्रदान करते हैं। लेकिन आपको इन्हें नियमित रूप से इस्तेमाल करना होता है।

स्विमिंग के दौरान रखें ध्यान
गर्मियों के दिनों में हमें स्विमिंग जैसी एक्टिविटी में हिस्सा लेना ज्यादा अच्छा लगता है। इससे आपके शरीर और दिमाग को काफी आराम मिलता है। साथ ही इसके जरिए अच्छी एक्सरसाइज भी हो जाती है। लेकिन आपके बाल स्विमिंग पूल का पानी बिल्कुल पसंद नहीं करते। ऐसे में बेहतर है कि स्विमिंग पूल में जाते समय शॉवर कैप पहन लें अथवा बालों में कंडीशनर लगाएं। इससे आपके बालों को पूल के क्लोरीन जैसे केमिकल से सुरक्षा मिलेगी। इसके साथ ही स्विमिंग पूल से बाहर निकलने के तुरंत बाद साफ पानी से नहाएं।

ब्लो ड्रायर या हॉट आयरन का इस्तेमाल कम करें
ब्लो डृायर का इस्तेमाल हर मौसम में कम से कम करना बेहतर रहता है। बेहतर है कि अपने बालों से हल्के हाथों से अतिरिक्त पानी निचोड़कर बालों को तौलिए में लपेट लें। अगर आपके लिए ब्लो डृायर इस्तेमाल करना आवश्यक हो तो यह ध्यान रखें कि इससे निकलने वाली गर्म हवा आपके बालों के फोलिकल्स को नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसे में डैमेज कम से कम हो इसके लिए हीट लो रखें और बेहतर है कि बालों पर काई सॉफ्टनिंग मॉज लगाएं। ब्लो डृायर के इस्तेमाल से आपके सिर की त्वचा के रोम छिद्र खुल सकते हैं और इनमें प्रदूषण व धूल-मिट्टी प्रवेश कर सकती है जिससे बालों की जड़ें कमजोर हो जाती हैं। इसके साथ ही हेयर डृायर का नियमित इस्तेमाल आपके बालों को बेजान भी बना सकता है।

मुड़े-तुड़े बालों का इलाज
गर्मियों का मौसम शुरू होते ही बालों की टिृमिंग कराएं ताकि दोमुंहें और डैमेज हो चुके बाल निकल जाएं। इससे गर्मियों की शुरूआत स्वस्थ बालों से होगी। अतिरिक्त रूखेपन से बचाव के लिए मॉइश्चराइजिंग शैंपू का इस्तेमाल करना बेहद जरूरी है। शैंपू के बाद मॉइश्चराइजिंग कंडीशनर लगाना कभी न भूलें। अगर इसके बाद भी बाल मुड़े-तुड़े यानी फ्रिजी दिखते हों तो आप एंटी-फ्रिज ऑयल अथवा सिरम की कुछ बूंदें इस्तेमाल कर सकते हैं।

डॉ. चिरंजीव छाबड़ा,
स्किन स्पेशलिस्ट,
स्किन अलाइव क्लीनिक्स, नई दिल्ली

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply