माँ बनना चाहती हैं ! तो पहले करें ये तैयारियां…

Share:

tips-on-how-to-prepare-for-a-baby-before-pregnancy

इंडिया मे आज भी तकरीबन 80% कपल्स के लिए बच्चा एक्सिडेंटली मिली एक ज़िम्मेदारी या खुशी होती है, खासतौर से ग्रामीण इलाकों मे, मगर शहरों मे ट्रेंड बदल रहा है। ज़िंदगी की इस अहम ज़िम्मेदारी को उठाने से पहले ज्यादातर लोग प्लानिंग करने लग गए हैं, ताकि वे इसके लिए शारीरिक, मानसिक और आर्थिक रूप से तैयार रहें। अगर आप भी माँ बनने की तैयारी कर रही हैं तो इससे पहले खुद को ऐसे करें तैयार:

बढ़ाएँ फिजिकल एक्टिविटी
माँ बनने की तैयारी मे हैं! तो ऐसे मे घंटों इंटरनेट पर बच्चे के लिए नाम तलाशने और कमरे के नर्सरी मे बदलने मे टाइम लगाने के बजाय ऐसी चीजों मे वक्त लगाएँ जिससे आपको हेल्दी बेबी लाने मे मदद मिले। सुनकर थोड़ा फनी लग सकता है, क्योंकि आने वाले टाइम मे आपकी कमर की शेप 100% बदलने वाली है। मगर वह टाइम आने से पहले तक अगर आप शेप मे रहेंगी तो प्रेग्नेंसी और डिलिवरी मे दिक्कतें कम आएंगी। डेली 30 मिनट एकसरसाइज़ करें। वॉकिंग, साइकलिंग और स्विमिंग आपके लिए बेस्ट वर्कआउट रहेगा। या संभव हो तो प्रीनेटल एक्सरसाइज क्लाससेज़ जॉइन करें।

अच्छा खाएं
जैसे ही आप प्रेग्नेंट होंगी आपका मन आइसक्रीम और आचार जैसी चीजें खाने के लिए उतावला होगा। लेकिन अभी, आप जो सबसे अच्छा काम कर सकती हैं वह है अच्छा खाना-पीना। प्रेग्नेंट होने से पहले आपको पूरी तरह हेल्दी होना है। अपने पार्टनर को भी जॉइन करने के लिए कहें। आपको बहुत सारा प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम और फोलिक एसिड लेने की जरूरत है। इसके लिए अपने खाने मे फल, नट्स, सब्जियाँ, हरी पत्तेदार सब्जियाँ, होल ग्रेन और लो फैट डेयरी उत्पाद। चिप्स, बेक की हुई चीजें, सोडा और दूसरे जंक फूड न लें।

फोलिक एसिड लें
डॉक्टर से सलाह लेकर आपको डेली विटामिन लेना शुरू कर देना चाहिए। प्रेग्नेंसी प्लानिंग के लिए, आपको रोज 400 माइक्रोग्राम फॉलिक एसिड की जरूरत होगी। ज़्यादातर मल्टीविटामिन से होना चाहिए। यह बी विटामिन बहुत सारी चीजों मे मिलता है, जैसे कि हरी पत्तेदार सब्जियाँ, रेसेदार फल और बीन्स, मगर ज़्यादातर महिलाओं को इन चीजों के अलावा भी इसके लिए पिल्स लेने की जरूरत होती है। फॉलिक एसिड बच्चे को जन्मजात गंभीर कमियों से बचाता है, जो कि आपको प्रेग्नेंसी का पता लगने से पहले ही हो जाता है।

वजन का रखें ध्यान
जल्द ही ऐसा टाइम आएगा जब आप वेङ्ग मशीन पर पैर भी नहीं रखना चाहेंगी। लेकिन अभी, बहुत पतला होने से आपको प्रेग्नेंट होने मे दिक्कत आ सकती है, इसी तरह से बहुत ज्यादा वजन होने पर भी समस्या हो सकती है। इससे आपको डायबीटीज़ और हाई ब्लड प्रेशर होने का भी डर रहता है। इससे आपका लेबर पेन भी लंबा हो सकता है, और आप ये कभी नहीं चाहेंगी! तो अपने डॉक्टर से बात करें और यह जानें कि आपके लिए सही वजन कितना रहेगा।

चेक अप कराएं
प्रेग्नेंसी प्लानिंग की अपनी न्यूज़ शेयर करना चाहती हैं? तो शुरुआत अपने डॉक्टर से करें। प्रेग्नेंट होने के लिए कोशिश करने से कुछ महीने पहले चेक अप कराएं। इनके बारे मे जानें:
• आपको किसे टेस्ट और वैक्सीन की जरूरत है
• प्रीनेटल विटामिन क्या चाहिए
• कौन सी हेल्थ कंडीशन है जिसे कंट्रोल करने की जरूरत है
• कौन सी दवाएं आप प्रेग्नेंसी के दौरान ले सकती हैं और कौन सी नहीं।

डेन्टिस्ट को दिखाएँ
अगर आप अच्छे से दांतों की सफाई नहीं करती हैं, तो यही वक्त है अच्छी आदत डालने की। प्रेग्नेंट होने से पहले अपने दांतों और मसूड़ों को जितना हो सके हेल्दी बना लें। यह आपकी स्माइल के साथ-साथ आपके बेबी के लिए भी अच्छा रहेगा। प्रेग्नेंसी मे मसूड़ों की समस्या होने के चांसेज काफी ज्यादा होते हैं और मसूड़ों की बीमारी समय से पहले लेबर पेन शुरू होने कि समस्या बढ़ा सकती है। इससे बचने के लिए दांतों की सफाई अच्छे से करें।

ड्रिंक करना बंद करें
अगर आप ड्रिंक करती हैं तो बेहतर है कि प्रेग्नेंसी की प्लानिंग से पहले ही इससे पीछा छुड़ा लें। कई बार अल्कोहल कि वजह से कंसीव करने मे मुश्किल आती है। और अगर आप प्रेग्नेंसी के दौरान ड्रिंक करती हैं तो बच्चे को जन्मजात समस्या (birth defects) और लर्निंग प्रॉबलम (learning problems) हो सकती हैं। लेकिन हाँ, अगर आपको यह प्रेग्नेंट होने का पता लागने से पहले आप एक बार ड्रिंक कर चुकी हैं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। लेकिन चूंकि डॉक्टर को भी अब तक यह क्लियर नहीं हो सका है कि कितना अल्कोहल सेफ है, ऐसे मे बेहतर है कि आप इसे लेना बंद ही कर दें।

बेबी के लिए बजट बनाएँ
बच्चों को बहुट सारी चीजों की जरूरत होती है। अक अनुमान के मुताबिक जब तक बच्चे टॉइलेट पॉट बैठना नहीं सीख जाते तब तक उन्हें 8000 तक डायपर्स खर्च हो जाते हैं। आपको बहुत सारे कपड़ो, एक कार सीट, स्ट्रोलर और शायद बोतल की जरूरत पड़ सकती है। आपके बजट मे डॉक्टर की फीस और चाइल्ड केयर भी शामिल होना चाहिए। आपको किन चीजों कि जरूरत पड़ेगी, इसके लिए लिस्ट बनाएँ और ये कहाँ अच्छे रेट पर मिलेंगी यह देखना शुरू कर दें। लेकिन यह ध्यान रखें कि बच्चो को सॉफ्ट कपड़ों की जरूरत होती है, इन्हें अगर बल्क मे खरीदेंगी तो डिस्काउंट मिल सकता है।

बेबी आने के बाद के लिए ऑफ
अगर आप वर्किंग हैं, तो यह पहले से सोच लें कि बच्चा आने के बाद आप किस तरह मैनेज करेंगी। कुछ कंपनियाँ इसके लिए पेड लीव देती हैं, लेकिन कुछ जगह अनपेड लीव का सिस्टम होता है। आप अपनि सिक लीव और बाकी छुट्टियों को इस टाइम के लिए बचा कर रख सकती हैं। यह भी देखें कि आपके लिए कौन से डॉक्टर या हॉस्पिटल ठीक रहेगा।

प्री बेबी ट्रिप पर जाएँ
बेबीमून पर जाने कि तैयारी करें। सेकंड हनीमून पर जाने के लिए यह बेस्ट टाइम है। यह कोई फ़ैन्सी होटल, रिलेक्सिंग बीच या फिर कोई हिल स्टेशन भी हो सकता है। बेबी के आने से पहले एक दूसरे के साथ अकेले यादगार पल बिताने का भी यह सुनहरा मौका होगा।

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply