प्रेग्नेंसी के स्ट्रेच मार्क को ऐसे कहिये गुडबाय

Share:

advance treatment options to get rid off pregnancy strech marks
माँ बनकर एक महिला को सम्पूर्णता का एहसास होता है। लेकि इस एहसास के साथ महिलाओँ के शरीर में कुछ ऐसे बदलाव भी आते हैं जिनको लेकर वे अक्सर परेशान हो जाती हैं। अपने साथ थोडी सख्ती बरतकर आप गर्भावस्था में बढे अपने वजन पर तो काबू पा लेती हैं, लेकिन इस दौरान त्वचा पर आए जिद्दी स्ट्रेच मार्क (pregnancy strech marks) आपका पीछा छोडने को तैयार नहीं होते हैं, जिससे आपका फिजिकल अपियरेंस प्रभावित होता है और आपका आत्मविश्वास कम हो जाता है।

क्या है स्ट्रेच मार्क?
ये आपके डर्मिस में अथवा त्वचा की दूसरी परत स्कार टिश्यु होते हैं। ये पेट, छाती, कूल्हे और जांघोँ की त्वचा पर दांतेदार धारी के रूप में उभरते हैं। स्ट्रेच मार्क त्वचा के अधिक खिंच जाने की वजह से होते हैं। ये तब होते हैं जब गर्भावस्था में जल्दी-जल्दी वजन बढने की वजह से त्वचा पर दबाव पडता है। ऐसे में त्वचा की बाहरी परत तो सामान्य रहती है, मगर इसकी निचली परत जिसे डर्मिस कहते हैं, पर दबाव की वजह से ब्रेक्स आ जाते हैं। तकरीबन 90% महिलाओँ को गर्भावस्था के छठेँ, सातवेँ महीने में त्वचा पर स्ट्रेच मार्क उभर आता है।

नई पीढी के इलाज
एक पीढी पहले तक महिलाएँ स्ट्रेच मार्क के लिए स्किन क्रीम और मसाज ऑयल पर निर्भर रहती थीँ, लेकिन आजकल आधुनिक विज्ञान और तकनीक की मदद से कई नए प्रॉसीजर्स आ गए हैं जिनकी सहायता से गर्भावस्था के ये बदसूरत निशान पूरी तरह से गायब हो सकते हैं।
आपकी त्वचा के स्ट्रेच मार्क की गहराई और इसके प्रसार के आधार पर डॉक्टर आपको नई पीढी के तीन ट्रीटमेंट विकल्पोँ में से कोई एक अपनाने की सलाह देंगे। इनमेँ शामिल हैं लेज़र सीओ2, लीपिक्राफ्ट अथवा ओ’सेल। डॉक्टर का फैसला कई कारकोँ से प्रभावित होता है, इनमेँ स्ट्रेच मार्क की गम्भीरता, शरीर के किस हिस्से पर हैं, ये कितने पुराने हैं, आपकी त्वचा का प्रकार, आप इसे ठीक करने में कितना समय दे सकती हैं और आप इलाज पर कितना खर्च कर सकती हैं, आदि बातेँ शामिल हैं।

लेज़र सीओ2
लेज़र सीओ2 नए स्ट्रेच मार्क के लिए एक अच्छा विकल्प है। यह तेजी से काम करता है, लम्बे समय तक असरदार रहता है और कस्टम-मेड होता है जो कि आपके गर्भावस्था की कहानी कहने वाले वाले इन मार्क्स को हटाते हैं।
इस ट्रीटमेंट में प्रभावित त्वचा के नीचे की सतह पर डैमेज हिस्से को हटाने और यहाँ कोलेजन स्तर का उत्पादन बढाने, त्वचा के नीचे नई स्किन कोशिकाओँ के विकास में सहायता के लिए, जिससे नर्म, जवाँ और स्वस्थ्य त्वचा उभरकर आ सके, इसके लिए इंफ्रारेड लाइट से डीप हीट का प्रेडिक्टेबल बीम त्वचा के नीचे पहुंचाया जाता है। सीओ2 लेजर स्ट्रेच मार्क हटाने के लिए अब तक के उपलब्ध विकल्पोँ में से सबसे अधिक इंटेंस लेजर प्रॉसीजर है। इस ट्रीटमेंट के बाद त्वचा ज्यादा टाइट और स्मूद हो जाती है इसका डाउनटाइम सिर्फ 5 दिन होता है। इसका खर्च प्रॉसीजर की इंटेंसिटी की जरूरत पर निर्भर करता है। यह प्रक्रिया पूरी तरह से सुरक्षित है।

लिपोक्राफ्ट
जब स्ट्रेच मार्क बडे और गहरे होते हैं, तब इसे हटाने के लिए स्पेशियलाइज्ड ट्रीटमेंट की जरूरत होती है। यह एक आधुनिक प्रक्रिया है जिसमेँ एडिपोज़ से लिए स्टेम सेल के इस्तेमाल से स्ट्रेच मार्क को कम किया जाता है। लिपोक्राफ्ट बिना किसी स्कार के त्वचा को हील करने में मदद करता है। लिपोक्राफ्ट की मदद से त्वचा का नवीनीकरण होता है, दाग वाली त्वचा की जगह-जगह धीरे-धीरे नई त्वचा आ जाती है। लेकिन इसमेँ लम्बा समय लगता है। इसका रिज्ल्ट आप एक सिटिंग में नहीं देख सकते हैं। इसमेँ कम से कम तीन बार क्लिनिक जाना पडता है और इसके बाद लगातार मेंटेनेंस और मैनेजमेंट पर ध्यान देने की जरूरत पडती है। पूरे इलाज की प्रक्रिया में एक माह का वक्त लगता है और इलाज का खर्च आपकी समस्या की गम्भीरता पर निर्भर करता है।

ओ’सेल
ओ’सेल अथवा ऑटोलोगस प्लेटलेट कंसंट्रेट एक अन्य आधुनिक थेरेपी है जिसका इस्तेमाल त्वचा के स्ट्रेच मार्क हटाने के लिए अधिकतर स्किन क्लीनिक इस्तेमाल करते हैं। यह एक रीजनरेटिव ट्रीटमेंट है जो आज की माँओँ के आत्मविश्वास को बढाता है। इस प्रक्रिया में मरीज का अपना रक्त लेकर इसमेँ से प्लेटलेट अलग कर लिया जाता है और इसे इंजेक्शन के जरिए प्रभावित त्वचा में लगा दिया जाता है। इस मिनिमली इनवेसिव प्रॉसीजर की मदद से शरीर की अपनी पुनर्जीवन प्रक्रिया को तेज कर दिया जाता है, जिसके लिए प्लेटलेट जाना जाता है। ओ’सेल असल में प्लेटलेट की कंसंट्रेटेड मात्रा और मरीज के अपने रक्त से मिलने वाले उन आवश्यक तत्वोँ का मिश्रण होता है जो विकास के लिए मह्त्वपूर्ण होते हैं।

डॉ. प्रभू मिश्रा, सीईओ, प्रेजिडेंट, स्टेमजेन थेरपेटिक्स

Share:

Leave a reply