कैंसर सेल्स से फाइट करेगा बायो कंप्यूटर!

1252
0
Share:

biocomputer
बायो इंजीनियर इस समय बायो कंप्यूटरों (Bio Computer) के विकास में जुटे हुए हैं। उनका इरादा बायोलॉजिकल मटेरियल्स से ऐसे सूक्ष्म सर्किट (micro circuits) बनाने का है जिन्हें सेल्स (Cells) में समाहित किया जा सके। ऐसे सर्किट सेल्स के फंक्शन को बदल सकेंगे।

भविष्य में इस तरह की तकनीक से कैंसर सेल्स (Cancer Cells) की रिप्रोग्रामिंग (Reprogramming) करके उन्हें अनियंत्रित दर पर विभाजित होने से रोका जा सकेगा। इसी तरह स्टेम सेल्स (Stem Cells) की रिप्रोग्रामिंग करके उन्हें विभिन्न अंगों के सेल्स में बदला जा सकेगा। रिसर्चरों को इस दिशा मे अभी एक लंबा फासला तय करना है।

इस क्षेत्र में पिछले 20 वर्षों से रिसर्च चल रही है। रिसर्चरों ने बायो कंप्यूटरों के कंपोनेंट्स और प्रोटोटाइप विकसित करने की कोशिश जरूर की है लेकिन उन्हें अभी तक विशेष सफलता नहीं मिल पाई है। बायो कंप्यूटर अभी भी सिलिकन आधारित कंप्यूटरों से एकदम अलग हैं और बायो इंजीनियरों को कई अड़चनों का सामना करना पड़ रहा है।

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply