अब कीमोथेरेपी से नहीं झडेंगे बाल

Share:

बाल झडना और वजन कम होना कैंसर के इलाज के सबसे आम साइड इफेक्ट हैं जिनसे हर कैंसर रोगी दो-चार होता है। मगर जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के एक वैज्ञानिक ने ऐसी दवा की खोज का दावा किया है जिससे रेडियोथेरेपी व कीमोथेरेपी के दौरान भी मरीज को इन समस्याओ का सामना नहीं करना पडेगा।

इस नई शोध के बाद कैंसर के इलाज के दौरान होने वाला जानलेवा दर्द दूर करने की दवा खोजने का दावा किया गया है। एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक वैज्ञानिक डॉ. आर. पी. सिंह ने दावा किया है कि यह दवा कुछ पौधों से तैयार की गई है जो रेडियो व कीमोथैरेपी के दुष्प्रभावों को खत्म कर देती है। इससे कैंसर के इलाज में कीमोथैरेपी के दौरान मरीज में खून की कमी, बाल झड़ने और वजन घटने जैसी समस्याएं दूर की जा सकेंगी।

डॉक्टर सिंह का दावा है कि चूहे और सीमित दायरे में इंसान पर इस दवा का परीक्षण काफी हद तक सफल रहा है। एम्स सहित दिल्ली के कई बड़े अस्पतालों में इस दवा के परीक्षण की तैयारी की जा रही है। परीक्षण की सफलता के बाद यह दवा बाजार में उपलब्ध हो सकेगी।

कीमोथेरेपी से स्‍वस्‍थ्‍य और सक्रिय कोशिकाओं पर काफी घातक असर पड़ता है जिससे वे मरने लगती हैं। ऐसे में मरीज का वजन घटने लगता है। खून की कमी व खाने में दिक्‍कत जैसी समस्‍याएं भी शुरू हो जाती हैं। कीमोथेरेपी के दौरान मरीज को काफी दर्द होता है।

Share:

Leave a reply