कहीं ठंड न कर दे आँखों को तंग

Share:

combat eye allergies in winter
मौसमी बदलाव के साथ कई बार आंखों में एलर्जी (Eye allergy) की समस्या बढ़ जाती है। इन दिनों मौसम तेजी से बदल रहा है। तापमान में लगातार गिरावट आ रही है। हवा में ठंड का एहसास बढ़ गया है। साथ ही वातावरण में एलर्जी (allergy) बढ़ाने वाले कण बढ़ गए हैं और गर्माहट के लिए आर्टिफ़िशियल उपायों की जरूरत महसूस होने लगी है ऐसे में आंखों में कई बार एलर्जी और परेशान करने वाले रूखेपन का एहसास होता है।

कंजंक्टिवा (Conjunctiva) पर पड़ता है असर
कंजंक्टिवा (Conjunctiva) की एक बेहद मुलायम और पारदर्शी त्वचा है जो आंखों में होती है और यह हमारी भीतरी आंख और बाहरी दुनिया के बीच एक पारदर्शी पर्दे का काम करती है। एलर्जी (allergy) होने पर आमतौर पर आंखों की इसी बाहरी परत पर असर पड़ता है। इसके प्रभाव से आंखेँ लाल हो जाती हैं, इनमें खुजली होने लगती है और आंखों से पानी निकलने लगता है।

जानें कुछ ऐसे टिप्स जो सर्दियों में आंखों को एलर्जी से बचाने में मददगार साबित हो सकते हैं:
घर को रखें एलर्जी फ्री (allergy Free): अगर आपको इन दिनों हवा में मौजूद प्रदूषण अथवा मिट्टी-धूल से एलर्जी है तो इन दिनों अपने घर के दरवाजे और खिड़कियां बंद रखें ताकि ये चीजें घर के अंदर न आएं। एलर्जी बढ़ाने वाले इन तत्वों से बचाव के लिए एयर कंडीशनर का इस्तेमाल करें। कमरे से कारपेट हटा दें, क्योंकि इनमें आंखों की एलर्जी बढ़ाने वाली धूल जमा हो सकती है। अपने कंबल और बिस्तर आदि साफ रखें।

फंगस (Fungus) न पनपने दें: फफूंदी एक फंगस है जो अक्सर घर के भीतर उमस और सीलन की वजह से उग जाती है। इसकी वजह से त्वचा और आंखों में कई तरह की एलर्जी हो सकती है। यह सुनिश्चित करें कि आपके घर में सीलन और उमस न हो। अगर जरूरत हो तो डीह्युमिडिफायर का इस्तेमाल करें।

ड्राइनेस के लिए लें आईड्रॉप: ठंडी हवाएं और रूखा मौसम कई बार आंखों के रूखेपन की वजह बन जाती हैं। ऐसे में आंखों में सूजन और खुजलाहट होती है। अपनी आंखों में नमी बरकरार रखने के लिए डॉक्टर की सलाह से एक आईड्रॉप का इस्तेमाल करें।

धुएं और एग्जॉस्ट से बचें: चूंकि ठंड में बाहर ठिठुरन का एहसास होता है ऐसे में अक्सर लोग घर के अंदर ही स्मोक करते हैं। सिगरेट का धुआं आंखों को परेशान कर सकता है और एलर्जी की समस्या बढ़ा सकता है। अगर आपको धुएं से एलर्जी है तो अपने घर को सख्ती से स्मोक फ्री जोन मे तब्दील करें। इसके साथ ही डीजल वाली गाड़ियों से निकलने वाले धुएं से भी दूर रहें। इससे बचाव के लिए अपनी कार के शीशे बंद रखें।

सफाई और देखभालः गंदे हाथों से आंखों को न छुएं। अपने हाथों को बार-बार धोएं और अपने आस-पास वालों को भी ऐसा करने के लिए कहें। तौलिये, रूमाल, आंखों के कॉस्मेटिक्स और अन्य चीजें एक-दूसरे के साथ बांटने से बचें।

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply