मृत दिलों से लौटीं मरीजों की धड़कनें

1469
0
Share:

doctors-transplanted-dead-hearts-in-australia
आस्ट्रेलिया के सर्जनों ने एक ‘मृत दिल’ का इस्तेमाल करके हार्ट ट्रांसप्लांट करने में सफलता प्राप्त की है। यह दुनिया का अपनी किस्म का पहला ऑपरेशन है। अभी तक डोनर हार्ट ब्रेन डेड लोगों से प्राप्त होते थे। ऐसे लोगों के दिल में धकड़न होती रहती थी।

सिडनी के सेंट विंसेन्ट्स हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने बंद धड़कन वाले दिलों को पहले पुनर्जीवित किया और फिर उन्हें ऐसे मरीजों में ट्रांसप्लांट किया जिनके दिलों ने लगभग काम करना बंद कर दिया था। डोनर हार्ट प्राप्त करने वाली पहली मरीज का कहना है कि वह खुद को दस साल छोटा महसूस कर रही है। अभी तक सर्क्युलेटरी डेथ के बाद दिल का इस्तेमाल ट्रांसप्लांट के लिए नहीं किया गया था।

सिडनी के डॉक्टरों ने एक नई तकनीक से बंद धड़कन वाले दिल को रिवाइव किया। इसके लिए उन्होंने दिल को ‘हार्ट-इन-ए-बॉक्स’ नामक मशीन में रखा। ट्रांसप्लांट कराने वाली महिला का नाम मिशैली ग्रिबिलास है। 57- वर्षीय ग्रिबिलास की सर्जरी दो महीने पहले हुई थी उसके बाद दो और व्यक्तियों की सफल सर्जरी हो चुकी है। सेंट विंसेन्ट्स के हार्ट ट्रांसप्लांट यूनिट के प्रमुख प्रो.पीटर मैक्डोनाल्ड का कहना है कि नई तकनीक से डोनर अंगों की कमी को दूर करने में मदद मिलेगी।

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply