फिटनेस के लिए इन 8 आदतों को कहें अलविदा

Share:

get-rid-off-8 unhealthy-habits

हेड फोन कान मे लगाकर तेज वॉल्यूम मे गाना सुनना आपका फेवरेट शग़ल हो सकता है। आप अपने स्मार्ट फोन को खुद से कभी जुदा नहीं करते, यहाँ तक कि चार्जिंग के समय भी। कपड़े बिलकुल टाइट फिटिंग ने न हों तो आपको जमते नहीं हैं अथवा लैपटाप आँखों से ओझल होते ही आपको घबराहट महसूस होने लगती है….। सुनने मे बातें बेहद आम लगती होंगी, और हममे से अधिकतर लोगों के लिए ये बातें आदत का हिस्सा बन चुकी होंगी। लेकिन आपके लिए यह जानना भी जरूरी है कि यही छोटी-छोटी बातें आपकी सेहत पर बड़ा प्रभाव छोड़ सकती हैं। इसलिए जितनी जल्दी हो सके इन 8 आदतों से तौबा कर लें:

ईयर फोन या टीवी का वॉल्यूम
शोर का स्वीकार्य स्तर है 80 डेसिबल से कम। ईयर फोन या टीवी का वॉल्यूम शोर के स्वीकार्य स्तर के 50% से भी कम रखें।

स्मार्ट फोन पर ज्यादा देर बात
दिन भर मे दो घंटे से ज्यादा देर तक अपने स्मार्ट फोन पर बात न करें।

सेल फोन भी इन्फेक्शन का स्रोत
सेल फोन का सरफेस रोजाना साफ किया जाना चाहिए। अगर आप मोबाइल के सामने खाँसते या छीकते हैं, तब ये दूसरों तक इन्फेक्शन फैलाने की वजह बन सकते हैं।

बेडरूम मे मोबाइल फोन चार्जिंग
आप जिस कमरे मे सोते हैं उसमे मोबाइल फोन चार्ज करने से बचें, चूंकि मोबाइल फोन इलेक्ट्रोमैग्नेटिक तरंगें छोड़ते हैं, ऐसे मे ये आपके लिए नुकसानदेय हो सकते हैं।

मोबाइल फोन को मॉर्निंग अलार्म की तरह इस्तेमाल करना
इसके लिए बाजार मे उपलब्ध साधारण घड़ी का इस्तेमाल करें क्योंकि ये कम ख़र्चीले और सुरक्षित होते हैं।

टाइट अंडरगारमेंट पहन कर साइकल चलाना
लोकल एरिया मे लगातार गर्माहट से आगे चलकर आपको इंफर्टिलिटी की समस्या हो सकती है।

गोद मे लैपटॉप रखकर इस्तेमाल करना
इससे परहेज करें क्योंकि यह आपके लोकल अंगों का टेम्परेचर बढ़ा सकता है।

देर तक कंप्यूटर का इस्तेमाल
आँखों को आराम देने के लिए हर 20 मिनट के बाद, 20 सेकंड के लिए 20 फुट की दूरी पर देखें।

Share:

Leave a reply