टिप्स, जिनसे मोती जैसे चमकेंगे आपके दांत

Share:

how-to-get-whiter-teeth
क्या धब्बों और पीलेपन की वजह से आपके दांतों ने अपनी चमक खो दी है? यूं तो उम्र बढ़ने के साथ हमारे दांतों की रंगत धूमिल होना सामान्य प्रक्रिया है, लेकिन खाने-पीने की कुछ चीजें और यहाँ तक कि कुछ माउथवॉश (Mouthwash) भी दांतों को असमय पीलापन दे सकते हैं। नीचे दिये गए टिप्स अपनाकर आप दांतों को लंबे समय तक चमकदार बनाए रख सकते हैं:
खुद करें दांतों की ह्वाइटनिंग
आप अपने दांतों के ऊपरी दाग-धब्बों को खुद भी हल्का कर सकते हैं। इसके लिए मार्केट मे कई तरह के ह्वाइटनिंग प्रॉडक्ट जैसे कि, टूथपेस्ट, स्ट्रिप्स और किट्स उपलब्ध हैं। इसके लिए कुछ परंपरागत तरीके भी अपना सकते हैं या डेंटिस्ट की हेल्प ले सकते हैं।

टूथ ह्वाइटनिंग किट
घर मे इस्तेमाल होने वाले ज़्यादातर टूथ व्हाइटनिंग किट्स मे कार्बमाइड्स पैरोक्साइड होता है जो एक तरह का ब्लीच है। यह दांतों के ऊपरी और गहरे, दोनों तरह के दाग-धब्बे हटाकर आपके दांतों की प्राकृतिक रौनक लौटा सकता है। अगर आपके दांतों पर कॉफी के दाग हैं तो टूथ-ब्लीचिंग किट आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

होम व्हाइटनिंग स्ट्रिप्स
दांतों के दाग-धब्बे हटाने मे टूथ स्ट्रिप्स भी कारगर हो सकते हैं। ये स्ट्रिप्स बेहद पतले, देखने मे अदृश्य से होते हैं, इनपर पैरोक्साइड-बेस्ड व्हाइटनिंग जेल लगा होता है। इसे आपको रोज कुछ मिनटों के लिए एक-दो हफ्ते तक दांतों मे लगाकर रखना होता है। इसका परिणाम कुछ ही दिनों मे दिखाई देने लगता है और असर एक साल से भी ज्यादा समय तक रहता है। हालांकि यह व्हाइटनिंग किट जैसा जादुई असर नहीं दिखाता है, लेकिन इसे इस्तेमाल करना बेहद आसान और सुरक्षित है।

व्हाइटनिंग टूथपेस्ट
ओवर द काउंटर टूथपेस्ट, जेल और लिक्विड आपके दांतों के ऊपरी सतह पर जमे दाग-धब्बे हटाने मे सहायक हो सकते हैं। इनमे से अधिकतर उत्पादों मे घर्षण वाले तत्व, केमिकल या पॉलिसिंग तत्व मामूली मात्रा मे होते हैं, दांतों के प्रकृतिक रंग को खराब नहीं करते हैं।

दाँत चमकाने के घरेलू उपाय
कुछ लोग इसके लिए बेकिंग सोडा जैसे परंपरागत घरेलू नुस्खे अपनाना पसंद करते हैं। इसके अलावा सेब, पीयर्स और गाजर जैसे फल भी मुह मे लार की मात्रा बढ़ाते हैं और दांतों को साफ रखने मे सहायक होते हैं।

दाँतों का दाग-धब्बों से बचाव
उम्र बढ़ने के साथ-साथ दांतों की उपरी सतह यानी इनामेल हट जाता है। इसके नीचे की परत, जिसे डेंटिन कहते हैं, पीलापन लिए हुए होती है। यही वजह है कि सबसे पहले आपको दांतों को दाग-धब्बों से बचाने की सलाह दी जाती है। खासतौर से व्हाइटनिंग की प्रक्रिया के बाद आपको ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत होती है। क्योंकि इसके बाद दाँत ज्यादा संवेदनशील हो जाते हैं और बार-बार व्हाइटनिंग से नीले पड़ सकते हैं, ऐसे मे आपकी स्माइल पहले जैसी नहीं रह जाती है।

दांतों को जगमगाने के लिए बुझा दें लाइटर
स्मोकिंग न सिर्फ आपकी सेहत के लिए बुरा है बल्कि आपके दांतों की रंगत खराब करने के मामले मे भी सबसे आगे है। तंबाकू की वजह से दांतों पर भूरे निशान बन जाते हैं जो धीरे-धीरे दांतों को घिसते हुए इसकी ऊपरी परत को खराब करके हटा देते हैं। तंबाकू का दाग सिर्फ ब्रश करने से नहीं हटता है। जितने ज्यादा दिनों तक आप स्मोक करेंगे आपके दांतों की रंगत उतनी ही ज्यादा खराब होगी। इसकी वजह से साँसों की दुर्गंध, मसूड़ों की बीमारी और कई तरह के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

खाने की अन्य जिनसे होता है दांतों पर निशान
ऐसी कोई भी खाने की चीज जिससे आपकी सफ़ेद कॉटन की टी-शर्ट पर दाग लगता है, वह आपके दांतों पर भी निशान छोड़ेगी। उदाहरण के तौर पर कॉफी। अन्य चीजों मे चाय, डार्क सोडा और कुछ फलों के जूस शामिल हैं। इन चीजों का दाग दांतों पर धीरे-धीरे जमता है और उम्र के साथ गहरा होता जाता है। समस्या से बचाव के लिए ऐसी चीजें खाने-पीने के तुरंत बाद दांतों को ब्रश करें या मुह मे पानी भरकर अच्छे से मुंह की सफाई करें।

दांतों को नुकसान पहुंचाते हैं स्पोर्ट्स ड्रिंक
ऐसे तो हर स्वीटेंड ड्रिंक दांतों पर निशान छोड़ती है, लेकिन जनरल डेंटिस्ट्री की एक स्टडी रिपोर्ट के मुताबिक एनर्जी और स्पोर्ट्स ड्रिंक सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं। यहाँ तक कि बोतल बंद लेमनेड भी लंबे समय तक इस्तेमाल करने से दांतों के इनामेल को नुकसान पहुँचाते हैं। इससे बचाव के लिए इस तरह की ड्रिंक बैठकर धीरे-धीरे पीने के बजाय जल्दी से पीकर खत्म कर दें। खत्म होने के तुरंत बाद पानी से मुंह और दांतों की सफाई करें।

दवाएं जो पहुँचती हैं दांतों की रंगत को नुकसान
टेट्रासाइक्लीन एंटीबायटिक (antibiotic tetracycline) इस्तेमाल करने से उन बच्चों के दांतों मे नीलापन आ सकता है जो अभी शारीरिक विकास के उम्र मे हैं। ऐसे एंटीबैक्टीरियल माउथवॉश जिनमे क्लोरेक्सिडाइन (chlorhexidine) या सेटिलप्रिडीनियम क्लोराइड (cetylpyridinium chloride) से भी दांतों पर धब्बे आ सकते हैं। कुछ ब्लड प्रेशर की दवाएं भी इस तरह का असर दिखती हैं। आयरन और फ्लोराइड की ज्यादा मात्रा भी नुकसान पहुँचती है।

कभी न भूलें नियमित देखभाल
नियमित की साधारण देखभाल आपके दांतों को चमकदार और मुस्कान को दमदार बनाए रखने के लिए बेहद जरूरी है। रोज कम से कम दो बार ब्रश करें और एक बार फ़्लास से दांतों की सफाई करें। बेहतर होगा यदि आप हर बार खाने के बाद ब्रश करें। इससे आपके दांतों और खासतौर से मसूड़ों के आस-पास निशान नहीं बनेगा।

Share:
0
Reader Rating: (5 Rates)3.8

Leave a reply