पेट से होकर जाता है स्वस्थ दिल का रास्ता

Share:

top-7-tips-for-healthy-heartस्वस्थ जीवन के लिए मजबूत दिल और सांस लेने की बेहतर प्रणाली की जरूरत होती है। कमजोर दिल से शरीर की संचार व्यवस्था पर नाकारत्मक असर पड़ता है और रोग शरीर पर काबू करने लगते हैं।

ध्यान से सुनें दिल की बात

हृदय रोग दुनिया में सबसे ज्यादा जान लेने वाला रोग है। इस रोग की समस्या को बढ़ाने वाले कारकों में स्मोकिंग,  सुस्त जीवनशैली,  पारिवारिक इतिहास,  हाई ब्लडप्रेशर,  हाई कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज,  मोटापा,  तनाव और बढ़ती उम्र शामिल हैं।

मिथक : मैं स्वस्थ और सक्रिय जीवन शैली वाला हूं और मुझे एक्सरसाइज की जरूरत नहीं।

तथ्य :  हृदय रोग का प्रमुख कारण है एक्सरसाइज की कमी। एक्सरसाइज करने से आपका शरीर फिट रहता है और हर धड़कन के साथ ज्यादा रक्त शरीर में पंप होता है। नियमित ट्रेनिंग प्रोग्राम के साथ आप आसानी से बिना थके लंबी दूरी तक पैदल चलने और सीढ़ियां चढ़ने में कामयाब हो सकते हैं।

व्यायाम के लाभ

नियमित एक्सरसाइज बेहतर स्वास्थ्य स्थिति हासिल करने के लिए जरूरी है। इससे आपका मेटाबोलिज्म बढ़ता है,  ब्लड प्रेशर कम करने में मदद मिलती है, मोटापा कम होता है, बैड कोलेस्टॉल कम होने से गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है। इंसुलिन की सेंसिविटी बढ़ने से डायबिटीज का खतरा कम होता है। तनाव कम होता है।

कार्डियोवेस्कुलर फिटनेस बढ़ाने वाली एक्सरसाइज

फ्रीक्वेंसी : एक सप्ताह में 5 से 7 बार के बीच

समय : अवधि 20 से 60 मिनट के बीच हो, फिटनेस लेवल बनाए रखने के लिए कम से कम 20 मिनट एक्सरसाइज जरूरी है।

टाइप : वॉकिंग, जॉगिंग, रनिंग, साइकिलिंग, स्वीमिंग, ट्रेडमिल, स्टेशनरी बाइसिकल, सीढ़िया चढ़ना, रोविंग मशीन।

स्वस्थ दिल का रास्ता पेट से होकर गुजरता है। हृदय रोग का खतरा कम करने के लिए आपको अपने खान-पान में परिवर्तन करना होगा। स्वस्थ हृदय के लिए भूखे नहीं रहें बल्कि विकल्प खोजें।

रणनीति 1: लो-फैट या स्किम मिल्कस कॉटेज चीज या दही खरीदें। दूध और डेयरी प्रोडक्ट को त्यागे नहीं। उनमें सुरक्षात्मक कैल्शियम,  हड्डियों को मजबूत करने वाले तथा हाई ब्लड प्रेशर कम करने वाले तत्व होते हैं। फुल फैट मिल्क तथा अन्य डेयरी प्रोडक्ट,  ऑर्गन मीट जैसे लिवर, एग योक,  फैटी तथा मार्बल्ड मीट,  कोल्ड कट कम करें।

रणनीति 2 : केवल पतला मीट खरीदें,  मोटी परत को काट दें और छोटे पोर्शन में खाएं। रेड मीट कम ही खाएं उसके स्थान में फिश,  चिकन या शाकाहार लें।

रणनीति 3 : ताजे फल एवं सब्जियां लें। तली सब्जियां,  क्रीमी सॉस वाली सब्जियां,  हैवी सिरप में डूबे डिब्बाबंद फल न लें।

रणनीति 4 : होल व्हीट आटा,  होल ग्रेन ब्रेड,  हाई फाइबर सीरियल,  ब्राउन राइस या जई का सेवन करें।

रिफाइंड प्रोडक्ट्स,  मफिन्स,  डोनट्स,  बिस्कुट और केक का सेवन न करें।

Share:

Leave a reply