डायबीटिज से मुक्ति के लिए वजन घटाओ

Share:

loose weight
डायबीटिज (diabetes)टाइप दो से पीड़ित लाखों लोगों को इस बीमारी से छुटकारा मिल सकता है बशर्ते वे अपना वजन घटा (lose weight) दें। न्यूकैसल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने अपनी रिसर्च में कहा है कि पैंक्रियास में फैट (Fat) के जमा होने से डायबीटिज (diabetes) होती है। यदि इस अंग से करीब एक ग्राम भी फैट कम हो जाए तो इन्सुलिन का उत्पादन बहाल हो सकता है।

न्यूकैसल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक, रॉय टेलर का कहना है कि टाइप दो डायबीटिज (diabetes) से पीड़ित व्यक्तियों का वजन कम होने से उनके पैंक्रियास से अतिरिक्त फैट बाहर निकलने लगती है जिससे यह अंग फिर से सामान्य ढंग से काम करने लगता है।

टाइप दो डायबीटिज (diabetes) से पीड़ित 18 मोटे व्यक्तियों की गैस्ट्रिक बैंड सर्जरी की गई और उन्हें 8 हफ्ते तक परहेज वाली डाइट पर रखा गया। इन मरीजों की आयु 25 से 65 वर्ष के बीच थी। परीक्षण अवधि के दौरान इन लोगों के वजन में करीब 13 प्रतिशत की कमी आई। उनके पैंक्रियास से करीब 0.6 प्रतिशत फैट कम हुई। फैट कम होने से उनका पैंक्रियास सामान्य रूप से काम करने लगा और ये सभी मरीज अपनी छुटकारा पा गए।

दूसरी तरफ, डायबीटिज (diabetes)से मुक्त मोटे लोगों के पैंक्रियास में फैट के स्तर में कोई कमी नहीं आई। इससे सिद्ध होता है कि पैंक्रियास में फैट के बढ़ने का संबंध टाइप दो डायबीटिज (diabetes) से है। न्यूकैसल यूनिवर्सिटी की टीम ग्लेसगो यूनिवर्सिटी के साथ मिल कर 200 लोगों का अध्ययन करेगी। यह प्रयोग दो वर्ष तक चलेगा। इसमें यह देखा जाएगा कि क्या उक्त निष्कर्षों को दोहराया जा सकता है।

Share:
0
Reader Rating: (2 Rates)3

Leave a reply