अब चेहरे के जिद्दी दाग भी होंगे साफ़!

5796
0
Share:

laser-treatments
कोहेरेंट मेडिकल सिस्टम ( Coherent Medical Systems ) भारत में लेकर आया है क्रांतिकारी लेजर तकनीक (laser treatment), जिससे जिद्दी झाइयों और टैटू (skin Problems) के निशान के भी सफल इलाज का किया जा रहा है दावा
जिद्दी मुंहांसे, दाग, झुर्रियां, झाईं और टैटू के अनचाहे छाप मौजूदा दौर में किसी के भी व्यक्तित्व पर बुरा असर डाल सकते हैं। क्योंकि आजकल हर कोई यह मानता है कि ’फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन’। महानगरों के मामले में तो यह बात पूरी तरह से सच साबित होती है जहां कॉरपोरेट कल्चर में हर दिन अच्छा दिखने की जरूरत होती है। हालांकि कुछ लोगों को जन्मजात ऐसी त्वचा का वरदान मिला होता है, लेकिन कुछ लोगों के साथ ऐसा नहीं भी होता है।

मगर अब आधुनिक तकनीकों की मदद से हर किसी की त्वचा को खास बनाया जा सकता है। ऐसी ही एक नई लेजर तकनीक को भारत मे लेकर आया है कोहेरेंट मेडिकल सिस्टम (Coherent Medical Systems), जिससे जिद्दी समस्याओं का इलाज भी संभव है। इस नई लेजर तकनीकों का नाम है, मेडीलाइट सी6, रेवलाइट और रिएक्शन। इनके बारे में डॉक्टरों को प्रशिक्षित करने के लिए कोहेरेंट ने एक नॉलेज शेयरिंग सेशन का आयोजन किया, जिसमें देश ही नहीं दुनिया भर के जाने-माने एक्सपर्ट्स ने हिस्सा लिया।

दिल्ली के इंडिया हैबिटेट सेंटर में आयोजित इस सेशन में 50 से भी अधिक त्वचा रोग विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में शिकागो, यूएसए प्रैक्टिसिंग क्लीनिकल डर्मेटोलॉजिस्ट, क्लीनिकल रिसर्च के सह-निदेशक डॉ. एबोनियल बेकस, साइनोसर यूएसए के क्लीनिकल स्पेशलिस्ट मि. माइकल बेयर्स और विओरा इजरायल के क्लीनिकल मैनेजर डॉ. इना बेलंकी ने यहां मौजूद विशेषज्ञों को लेजर और रेडियो फ्रीक्वेंसी-आरएफ तकनीक संबंधी प्रक्रियाओं के बारे में सारी जानकारियां दीं और यह बताया कि इन आधुनिक तकनीकों से बेहतरीन परिणाम कैसे हासिल किया जा सकता है। दुनिया भर से आए विशेषज्ञों के अलावा इस कार्यक्रम में कई जाने-माने भारतीय विशेषज्ञों ने भी हिस्सा लिया और डॉक्टरों के साथ अपने अनुभव बांटे। इनमें कॉस्मोडर्मा, बंगलुरू की डॉ. चैत्रा वी आनंद, बंगलुरू के डॉ. एस. सी. राजेंद्रन, कुब्बा स्किन क्लीनिक, दिल्ली के डॉ. राज कुब्बा, दुबई से आए अंतर्राष्टृीय डेलिगेट डॉ. मीनल पटवर्धन और इंदौर से आए डॉ. अनिल सोनी का नाम शामिल है।

कोहेरेंट मेडिकल सिस्टम्स के प्रबंध निदेशक, दिलीप मेसवानी ने कहा कि, ’’मेडलाइट सी6 और रेवलाइट प्रॉसीजर क्यू-स्विच्ड लेजर थेरेपी हैं, जिनका इस्तेमाल गहरी झाइयों, गहरे धब्बे और मुहासों के निशान मिटाने के लिए किया जाता है। मेडलाइट सी6 यूएसएफडीए द्वारा मान्यता प्राप्त लेजर है। इसका इस्तेमाल गर्भावस्था के बाद पेट की त्वचा पर आए निशान अथवा मोटापे की सर्जरी के बाद त्वचा के ढीलेपन को ठीक करने के लिए भी किया जाता है। यहां तक कि इजरायल के ’बिगेस्ट लूजर’ के प्रतिभागियों ने भी वनज घटाने के बाद अपने पेट की त्वचा में कसाव लाने के लिए इसी तकनीक का इस्तेमाल किया था।

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply