अब हो जाइए होली के लिए रेडी

Share:

holi-skin-care-tipsहोली करीब है, ऐसे में त्योहार की मस्ती का लुत्फ उठाने के साथ-साथ अपनी त्वचा को सुरक्षित रखने के लिए अभी से उठाइए कुछ कदम, ताकि रंगों की मार इन्हें बेजान न कर दे। आइए जानते हैं होली (Holi) के लिए कुछ जरूरी स्किन केयर टिप्स (Skin care tips)
पहले से दें पोषण:
होली की मार झेलने के लिए आपकी त्वचा की सेहत अच्छी रहना बेहद जरूरी है। रूखी त्वचा में डैमेज होने और एलर्जिक रिएक्शन होने का खतरा अधिक रहता है, ऐसे में त्वचा में भरपूर नमी बरकरार रखना जरूरी है। बहुत गर्म पानी से नहाने से बचें, क्योंकि इससे त्वचा रूखी हो जाती है। नहाने के बाद हर सुबह त्वचा को तेल की कुछ बूंदों से मालिश करें। चेहरे और गर्दन पर, अपनी त्वचा के लिए उपयुक्त मॉइश्चराइजिंग लोशन लगाएं और इसके बाद सनस्क्रीन लगाएं। हाथों को धोने के बाद हाथों पर और रात में सोने से पहले पूरे शरीर पर गाढ़ा मॉइश्चराइजर लगाएं।

एक्सपर्ट से मिलें:
होली से पहले त्वचा रोग विशेषज्ञ से मिलें। त्वचा की हालत में तुरंत सुधार के लिए कोई रीजुविनेटिंग प्रक्रिया जैसे कि मेडिकल फेशियलल, जुवेडर्म रिफाइंड के साथ डीप हाइड्रेशन और वोल्युमा लिक्विड आदि का इस्तेमाल अगर होली से हफ्तेभर पहले किया जाए तो त्वचा को सुरक्षित रखा जा सकता है। होली के बाद कम से कम एक हफ्ते तक त्वचा पर कोई भी एक्सफोलिएशन अथवा लेजर टृीटमेंट कराने से बचने की सलाह दी जाती है। रंगों, केमिकल और गंभीर सफाई के असर से त्वचा में डैमेज हो सकता है। इसकी हीलिंग के बाद ही एक्सफोलिएशन होना चाहिए। खासतौर से एलर्जिक रिएक्शन के मामले में, कम से कम 15 दिनों तक रेजॉल्युशन, अथवा किसी हार्ष प्रॉडक्ट या कॉस्मेटिक का इस्तेमाल न करें।

मौसमी इरिटेशन से करें बचावः
मार्च का महीना होली के त्योहार के साथ-साथ मौसमी बदलाव लेकर भी आता है। मौसमी बदलाव के असर से त्वचा में रिएक्शन, जिसमें डर्मटाइटिस, ऐग्रेवेशन, मुंहासे, चकत्ते, इरिटेशन और रूखापन आदि शामिल है, की समस्या बढ़ जाती है। इन्हें ठीक करने के लिए किससी त्वचा रोग विशेषज्ञ की देखरेख में आपके लिए उपयुक्त करेक्टिव फेशियल किया जा सकता है।

पानी का भरपूर डोज़:
आपको पूरी तरह सेहतंद रखने के लिए खूब सारा पानी पीना बेहद जरूरी होता है। रोज 8-10 गिलास पानी पीना शुरू कर दें, खासतौर से होली से एक हफ्ता पहले से। अपनी त्वचा को भरपूर नमी देकर आप इसे बढ़ते तापमान के असर से बचा सकते हैं, खासतौर से होली के दिन ज्यादा देर तक खुले में रहने के लिए अपनी त्वचा को तैयार कर सकते हैं।

होली के दिनः
होली खेलने से पहले कर लें उपाय

खुद को ढंकें-पूरी बाजू वाले और उंची कॉलर वाले कपड़े पहलें ताकि आपकी त्वचा कम से कम खुली रहे। त्वचा को रंगों के संपर्क में आने से जहां तक हो सके बचाएं।
लगाएँ प्रोटेक्टिव लेयर-अपनी त्वचा पर तेल अथवा किसी गाढ़ी क्रीम वाला मॉइश्चराइजर लगाकर अपनी त्वचा पर एक सुरक्षा कवच चढ़ा सकते हैं। होठों पर लिप बाम अथवा पेटृोलियम जेली लगाएं।

सनस्क्रीन है जरूरी- आप शायद घंटों तक बाहर होली खेलेंगे। ऐसे में मॉइश्चराइजर अथवा तेल की परत को त्वचा पर बरकरार रखने के लिए इसके उपर सनस्क्रीन की परत जरूर लगाएं।

बालों को करें सुरक्षित- अपने बालों के सिरों पर कंडीशनर अथवा तेल की पतली परत लगाएं और अगर बाल लंबे हैं तो इन्हें अपने चेहरे से दूर रखने के लिए अच्छी तरह से बांध लें, इससे बालों पर केमिकल कम से कम लगे।

नाखूनों पर नेल पेंट- अपने नाखूनों के क्युटिकल्स को पेटृोलियम जेली से सुरक्षित करें और इनपर सुरक्षात्मक परत चढ़ाने के लिए नेल पॉलिश लगाएं। याद रखें रंगों के पार्टिकल्स नाखूनों के पीछे छिपे रह सकते हैं और ये इरिटेशन की वजह बन सकते हैं।

तुरंत करें उपाय- अगर कभी भी आपको त्वचा में इरिटेशन या खुजली महसूस हो, तब तुरंत त्वचा के उस हिस्से को ठंडे पानी से धोएं, कॉटन से थपथपाकर सुखाएं और इस पर मॉइश्चराइजर लगाएं। त्वचा को आराम देने वाली कोई चीज, जैसे कि कैलामाइन लोशन लगाना फायदेमंद हो सकता है। अगर इससे कोई फायदा नहीं होता है तो डॉक्टर को दिखाएं।

जेंटल क्लीनिंग है जरूरी-जब भी होली के बाद अपनी त्वचा की सफाई करें तो इसे बेहद सौम्यता से साफ करें। सबसे पहले सूखे रंगों को अच्छी तरह से झाड़ लें, फिर किसी सोप फ्री क्लींजर से पोछें। इसके बाद ठंडे पानी से कई बार त्वचा को धोएं। फिर कोई सौम्य साबुन अथवा बॉडी वॉश लगाएं। कोई भी कठोर साबुन, स्क्रब अथवा लूफा इस्तेमाल न करें। बालों को पहले पानी से धोएं, फिर शैंपू और कंडीशनर लगाएं। नहाने के बाद त्वचा को अच्छी तरह से मॉइश्चराइज करें और कोई प्रिजर्वेटिव फ्री सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें।

त्वचा को होने दें रिकवर- होली के बाद एक हफ्ते तक किसी भी सैलून टृीटमेंट के लिए न जाएं और न ही स्क्रब, फेस मास्क, ब्लीचिंग अथवा वैक्सिंग जैसे घरेलू उपाय भी न अपनाएं। एक हफ्ते तक कॉस्मेटिक्स का इस्तेमाल भी कम से कम करें।

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply