पानी का फुल डोज़ लिया क्या

Share:

हर किसी के लिए पानी की जरूरतें अलग-अलग होती हैं। इसकी डोज़ फिजिकल एक्टिविटीज़, आस-पास के तापमान और उनके हेल्थ स्टेटस (बुखार, डायरिया, ब्लीडिंग), साइकलॉजिकल स्थिति (प्रेग्नेंसी, लैक्टेशन यानि दूध पिलाने), उम्र, जेंडर और कई अन्य बातों पर निर्भर करती है।
• एक सिडेंटरी एडल्ट यानी ज़्यादातर समय बैठा रहने वाला व्यक्ति, अगर 18 से 20 डिग्री सेल्शियस तापमान मे रहता है और उसकी साइकलॉजिकल स्थिति सामान्य है, तो उसके शरीर मे एक दिन मे औसतन 2.5 लीटर पानी की खपत होती है।
• 1.5 लीटर की खपत किडनी करता है, यूरीन के जरिये।
• सांस लेने के दौरान फेफड़े 0.35 लीटर की खपत करते हैं।
• पसीने के जरिये स्किन 0.45 लीटर की खपत करती है।
• शौच के जरिये 0.2 लीटर की खपत आँतें यानी इंटेस्टाइन करती हैं।
• डीहाइड्रेशन से बचने के लिए हमे उतना पानी पीना होता है, जितना हम खर्च करते हैं।
पानी लेने के 3 मुख्य सोर्स हैं:
• खाने मे 0.7 लीटर
• मेटाबोलिक वाटर, जो शरीर मे बायोकेमिकल रिएक्शन से बनता है-0.3 लीटर
• पानी पीकर-1.5 लीटर

Share:

Leave a reply