मौसमी बदलाव में भी फिट रखेंगे ये टिप्स

Share:

top-tips-to-stay-fit-in-winterमौसम और पर्यावरण संबंधी बदलाव हमारे स्वास्थ्य पर बेहद महत्वपूर्ण प्रभाव छोड़ते हैं। इंसानी शरीर दो चीजों को लेकर बेहद संवेदनशील होता है- पहला, मौसम में होने वाला बड़ा बदलाव और दूसरा, पर्यावरण संबंधी बदलाव। मौसमी बदलाव के मौजूदा दौर के साथ खुद को फिट रखने के लिए कुछ कदम उठाने जरूरी होते हैं।

सर्दियों के लिए सबसे खास हैं ये टिप्सः
विटामिन सी की फूल डोज़: इस मौसम में अधिक से अधिक रसीले फल खाएं, जैसे कि संतरे और मीठे नींबू क्योंकि इनमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में होती है जो आपके शरीर में सर्दी-जुकाम से बचाव के लिए प्रतिरोधक क्षमता विकसित करती है। गाजर, किवी, अंगूर, गहरे रंग के पतों वाली सब्जियां, चुकंदर और शकरकंद जैसी सब्जियां पर्याप्त मात्रा में इस्तेमाल करें क्योंकि इनमें संक्रमण से लड़ने में मददगार एंटीऑक्सिडेंट होते हैं।

न छोड़ें एक्सरसाइज का दामन: अगर आपके लिए ठंड में बाहर निकलकर व्यायाम करना मुश्किल हो रहा है तो घर के अंदर ही व्यायाम करें। इससे आप ठंड के सीधे संपर्क में आने से बच सकते हैं। अगर हमारा सुबह जल्दी उठने का मन नहीं करता है तो हम व्यायाम के लिए शाम का समय भी चुन सकते हैं। इस मौसम में योगासन बेहतरीन विकल्प साबित हो सकते हैं। अच्छी नींद भी इतनी ही महत्वपूर्ण है।

खूब सारा लिक्विड लें: सर्दियों में प्यास महसूस न होना सामान्य बात है लेकिन इसके बावजूद शरीर को नमी प्रदान के लिए खूब सारा पानी पीना जरूरी होता है। क्लीयर सूप और हर्बल टी के रूप में बार-बार लिक्विड लेते रहें। इससे आपका शरीर गर्म रहने के साथ-साथ नम भी रहेगा।

कपड़ों का रखें पूरा ध्यान: इस मौसम में ठंड से बचाव के लिए हर किसी को जेकेट, जूते, दस्ताने, स्कार्व्ज आदि पहनकर रखें। चूंकि ठंडी हवाएं अस्थमा और सांस संबंधी परेशानियां बढ़ा सकती हैं ऐसे में खुली हवा में चलते समय नाक-कान ढककर रखें।

साफ-सफाई का रखें पूरा ध्यान: हाथों को धोना बेहद जरूरी है। चूंकि इस मौसम में अक्सर हम खांसते या छींकते रहते हैं और ऐसा करते समय हमारा हाथ मुंह और नाक पर होता है फिर अगर इसी हाथ से हम सार्वजनिक चीजों को छूते हैं तो अनजाने में ही वायरस का प्रसार कर देते हैं। इस वस्तु को हाथ से छूकर अपने मुंह और नाक तक हाथ ले जाने से बीमारी फैल सकती है। इससे बचाच के लिए हमेशा खाने-पीने से पहले अथवा मुंह पर हाथ ले जाने से पहले इसे अच्छी तरह से धोएं।

अपनी स्किन का रखें ध्यान: सर्दियों में आपकी त्वचा सबसे ज्यादा प्रभावित होती है। हवा में नमी की मात्रा कम होने से त्वचा की नसों मंे खून का संचालन प्रभावित होता है ऐसे में अगर आप घर के भीतर बैठे रहते हैं अथवा आग से हाथ-पैरों की सिंकाई करते हैं तो त्वचा का रूखापन और बढ़ जाता है। इस मौसम में डिटर्जेंट और अन्य केमिकल से हाथों को होने वाली एलर्जी की समस्या भी बढ़ जाती है।

रखें इन बातों का भी ध्यान
गुनगुने पानी से नहाएं न कि टैंक के ठंडे पानी और नहाने के लिए ऐसे सौम्य साबुन का इस्तेमाल करें जो त्वचा को रूखा न करे। कोई अच्छा ऑइल बेस्ड मॉइश्चराइजर लगाएं। शरीर के खुले हुए हिस्से जैसे कि हाथ पैर, नाखून, तलवों और होठों का खास ध्यान रखें। होठों पर कोई एसपीएफ युक्त लिप बाम या टी टृी ऑयल लगाएं। होठों पर जीभ न घुमाएँ। सर्दियों में बाल भी रूखे हो जाते हैं इससे बचाव के लिए ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करें। विटामिन ई के सप्लिमेंट और लहसुन जैसी चीजें ठंड में रक्त संचार बढ़ाती हैं। सोराइसिस और एग्जिमा जैसी त्वचा की एलर्जी इन दिनों सबसे खराब हालत में पहुंच जाती है इसमें आमेगा 3 फैटी एसिड युक्त मछली का तेल फायदेमंद हो सकता है। आप सप्लिमेंट ले सकते हैं अथवा ऐसे विटामिन सी और जिंक जैसे तत्वों से युक्त खाद्य सामग्री इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे कि लहसुन।

दिल का रखें ख़याल: ठंड में दिल की समस्या भी बढ़ जाती है और हार्ट अटैक के मामले ज्यादा आते हैं। हालांकि इसकी सही वजह का पता अब तक नहीं लग सका है। तो अगर आप दिल के मरीज हैं तो अपने खान-पान का खास ध्यान रखें, खूब व्यायाम करें और कोई भी असहजता महसूस होने पर तुरंत अस्पताल पहुंचें।

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply