समझें फैट का फंडा

Share:

Oil

ट्रांस फैट क्या है?
कोई भी फैट, जो तेल के हाइड्रोजेनेशन प्रक्रिया से तैयार किया गया हो, ट्रांस फैट कहलाता है, उदाहरण के तौर पर वनस्पति घी। ट्रांस फैट कमरे के तापमान मे भी जमा रहता है। यह शरीर मे अच्छे कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और बुरे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा देता है।

सैचुरेटेड फैट क्या है?
कोई भी फैट, जो कमरे के तापमान मे भी जमा रहता है, वह सैचूरेटेड फैट है। इसका अधिक मात्रा मे इस्तेमाल आपकी सेहत और दिल के लिए नुकसानदेय हो सकता है।

अनसैचुरेटेड फैट क्या है?
अनसैचुरेटेड फैट कमरे के तापमान मे तरल रहता है और अगर संतुलित मात्रा मे इसका इस्तेमाल किया जाए तो हार्ट के लिए अच्छा होता है। इसके इस्तेमाल को लेकर अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन की न्यूट्रीशन कमिटी ने निम्नलिखित दिशानिर्देश दिए हैं:

• आप जितनी कुल कैलोरी खाते हैं उसका 25-35% से कम हिस्सा ही फैट का होना चाहिए।
• सैचुरेटेड फैट कुल कैलोरी का 7% से कम होना चाहिए।
• ट्रांस फैट को कुल कैलोरी के 1% से भी कम रखें।
• बाकी फैट मोनोअनसैचुरेटेड और पोलीअनसैचुरेटेड फैट के स्रोत से आना चाहिए, जैसे कि बिना नमक वाले नट्स, बीजों और मछली से (खासतौर से सेलमन, ट्राउट और हेरिंग जैसी ऑयली मछली कम से कम हफ्ते मे दो बार) और वेजीटेबल ऑयल।
• कोलेस्ट्रॉल का स्तर 300 एमजी/प्रतिदिन से कम रखें। लेकिन अगर आपको कोरोनरी हार्ट डीजीज है अथवा आपका एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर 100 एमजी/डीएल या इससे अधिक है तो अपना प्रतिदिन का कोलेस्ट्रॉल इनटेक 200 एमजी से कम रखें।

मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड-बेस्ड ऑयल क्या है?
मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड (मुफा) बेस्ड ऑयल मे ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है और इसे अगर संतुलित मात्रा मे लिए जाए तो हार्ट के लिए अच्छा होता है, जैसे कि ऑलिव ऑयल, मूँगफली ऑयल, कैनोला ऑयल। ये तेल दोबारा गर्म और इस्तेमाल किए जा सकते हैं।

पोलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड-बेस्ड ऑयल क्या है?
पोलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड (फूफा) मे ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड होता है। जिन चीजों मे पोलीअनसैचुरेटेड फाइट अधिक मिलता है उनमे कई वेजीटेबल ऑयल जैसे की सोयाबीन ऑयल, कॉर्न ऑयल और सनफ़्लावर ऑयल शामिल है। इसके साथ ही कुछ सेलमन, मैकरेल, हेरिंग जैसी ऑयली मछलियों मे भी होता है। इसके अन्य स्रोतों मे कुछ नट्स और बीज भी शामिल हैं जैसे कि अखरोट और सूरजमुखी के बीज आदि। पूफा बेस्ड ऑयल मे ओमेगा 6 फैटी एसिड ज्यादा होता है और अगर इसे अधिक मात्रा मे इस्तेमाल किया जय तो नुकसान पहुंचता है। यह बार-बार गरम होने से रैन्सिड (ओक्सिडाइज्ड) हो जाता है।

एक व्यक्ति को दिन मे कितना तेल इस्तेमाल करना चाहिए?
आइडियली, किसी भी सामान्य व्यक्ति को एक महीने मे 500 ग्राम/मिली लीटर से अधिक घी/तेल/बटर इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

Share:

Leave a reply