डस्ट-एलर्जी से बचाएगी वैक्सीन!

2595
0
Share:

Allergie

अस्थमा के मरीजों को मिल सकती है राहत
अस्थमा के उन मरीजों को जल्द राहत मिलने की उम्मीद नजर आ रही है, जिन्हें धूल के कणों से एलर्जी है। लैब टेस्ट और एनिमल ट्रायल मे इसके काफी अच्छे रिजल्ट सामने आए हैं। अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ फार्मास्युटिकल साइंटिस्ट जर्नल मे छपी रिपोर्ट के मुताबिक, एलर्जी के लिए तैयार की गई यह अपनी तरह की पहली वैक्सीन है।
वैक्सीन पर काम कर रहे यूनिवर्सिटी ऑफ लोवा के वैज्ञानिकों का दावा है की यह इंसान के इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉंग बनाकर प्राकृतिक रूप से डस्ट-एलर्जी से लड़ने मे सक्षम बनाती है। रिपोर्ट के मुताबिक एनिमल ट्रायल मे पाया गया कि डस्ट एलर्जी के चलते फेफड़ों मे हुए इन्फ़्लेमेशन को वैक्सीन ने 83% तक कम किया। वैक्सीन के पैकेज मे एक बूस्टर भी है जो शरीर के इन्फ़्लेमेटरी रिस्पाँस मे बदलाव लाता है।
धूल के कण इतने छोटे होते हैं कि गद्दे, सोफा, चादर जैसी घर मे इस्तेमाल होने वाली तकरीबन 84% चीजों मे आसानी से समा जाते हैं और एलर्जी को बढ़ावा देते हैं। ये अस्थमा के 45% मरीजों की समस्या बढ़ाने का काम करते हैं। लंबे एक्सपोजर से फेफणों के डैमेज होने का खतरा भी रहता है। फिलहाल एलर्जी के लिए जो इलाज के ऑप्शन उपलब्ध हैं वे टेम्परेरी हैं, और मामूली राहत पहुँचाते हैं। इतना ही नहीं, लगातार लंबे समय तक इसका इस्तेमाल करने से इसकी टोलरेंस भी डिवेलप हो जाती है। ऐसे मे आगे दवा कितनी सफलता से काम करेगी, इस बात की कोई गारंटी नहीं रहती।

Share:
0
Reader Rating: (0 Rates)0

Leave a reply