वेजिटेरियन महिलाओं को प्रीमेच्योर डिलीवरी का खतरा

1101
0
Share:

आप शाकाहारी है या मांसाहारी ये आपका निजी फैसला है। हम मानते आए हैं कि दोनों ही प्रकार का भोजन लेने वाले कुछ विकल्पों का इस्तेमाल कर जरूरी पोषण ले सकते हैं। पर हाल ही मे अमेरिकन जर्नल ऑफ एपिडेमिओलॉजी मे पब्लिश एक रिर्पोट शाकाहारी लोगो खासतौर से महिलाओं की नींद उड़ा सकती है।

क्या कहती है ये रिर्पोट
नॉर्वे यूनिवर्सिटी ऑफ सांइस एंड टेक्नोलॉजी के रिर्सचर्स नें 11 देशों की 11216 महिलाओं पर यह अध्ययन किया। रिर्पोट मे सामने आया कि अण्डा, मीट, मछली और दूध का सेवन ना करने वाले लोगों में विटामिन B12 और न्यूट्रीशन की कमी होने की सम्भावना अधिक होती है। विटामिन B की कमी के कारण महिलाओं का प्रीमेच्योर बच्चे को जन्म देने की आंशका बढ़ जाती है। विटीमिन B की कमी के कारण भ्रूण का पूर्ण विकास नही हो पाता। एक दूसरी रिर्पोट के मुताबिक विटामिन B12 की कमी के कारण 21% महिलाएं प्रीमेच्योर बच्चे को जन्म देती हैं। इसके अलावा विटामिन B12 रेड ब्लड सेल के रिप्रोडक्शन के लिए जरूरी हैं जो शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए अहम होते हैं। इस रिर्पोट के ऑथर टॉरमोड के अनुसार विटामिन B12 की कमी के कारण 37 हफ्तों से पहले ही प्रीमेच्योर डिलीवरी का खतरा बना रहता है।

विटामिन की कमी के नुकसान
-विटामिन B12 की कमी के कारण रेड ब्लड सेल का रिप्रोडक्शन मे कमी आती है। जिस कारण आप सारा दिन थका-थका महसुस करते है।
-विटीमिन B12 की कमी के कारण आपकी मशल्स ढ़ीली पड़ने लगती है इसी वजह से थोड़ी सी मेहनत आपको थका देती है।
-रोजमर्रा की छोटी-छोटी बातें भूल जाना यूं तो आम बात पर इसका कारण विटामिन B12 की कमी भी हो सकती है।
-सीढ़ीयां चढ़ते समय या थोड़ा ज्यादा चल लेने पर चक्कर आना या जी घबराना।
-विटीमिन B12 की कमी के कारण आंखो को नुकसान पंहुचता है और सारा दिन आंखो में खुजली या जलन रहना और धुधला दिखना विटीमिन B12 की कमी के कारण हो सकता है।
-विटामिन B12 की कमी के कारण आपकी स्किन पीली होती जाती है और बीमार दिखने लगते है।

Share:

Leave a reply